ताज़ा खबर
 

US में नरेंद्र मोदी से हो गई बड़ी भूल, शेफ के लिए राष्ट्रीय ध्वज पर कर डाला ऑटोग्राफ

देश से लेकर विदेशों में मोदमय माहौल करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी को उन्हीं के एक ऑटोग्राफ ने उन्हें विवादों में फसा दिया।

US में नरेंद्र मोदी से हो गई बड़ी भूल, शेफ के लिए राष्ट्रीय ध्वज पर कर डाला ऑटोग्राफ (Pic-agency)

देश से लेकर विदेशों में मोदमय माहौल करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी को उन्हीं के एक ऑटोग्राफ ने उन्हें विवादों में फसा दिया। दरअसल, जिस दौरान मोदी न्यूयॉर्क में वहां रह रहे भारतीय लोगों से मिल रहे थे तो वहां उन्होंने वैसे तो कई लोगों को ऑटोग्राफ दिए लेकिन एक मशहूर शेफ विकास खन्ना को ऑटोग्राफ देना मोदी को बेहद महंगा पड़ गया।

दरअसल, मोदी ने विकास खन्ना को कथित तौर पर ऑटोग्राफ वाला तिरंगा दिया था, जो वाद में विवादों का कारण बन गया और लोगों ने उनकी इस हरकत पर बयानवाजी शुरू कर दी। वैसे भी नियमों के मुताबिक तिरंगे पर कुछ भी लिखा नहीं जा सकता और यदि कोई कुछ इस पर लिखता है तो वह देश की मान का अपमान है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत सरकार अब विकास से यह तिरंगा वापस ले सकती है। हालांकि विकास यह तिरंगा अमेरिकी प्रेसिडेंट ओबामा को देने वाले थे।

गौरतलब है कि पीएम मोदी और सीईओज के गुरुवार रात हुए डिनर के लिए विकास खन्ना और उनकी टीम से डिशेज तैयार की थीं। विकास का कहना है कि मोदी ने डिनर के बाद उन्हें गिफ्ट में यह ऑटोग्राफ वाला तिरंगा दिया।

26 जनवरी 2002 से लागू फ्लैग कोड तीन पार्ट में है। इसके पार्ट 3 (सेक्शन 5) में इंडियन फ्लैग के मिसयूज के बारे में बताया गया है। इसके प्वाइंट 3.28 में साफ लिखा है कि तिरंगे पर किसी भी तरह से कुछ भी लिखना नहीं चाहिए। कुछ भी लिखना या साइन करना फ्लैग कोड का उल्लंघन है। (भारत का फ्लैग कोड पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

पंजाब के अमृतसर में जन्मे शेफ विकास खन्ना ने बताया कि उन्होंने गुरुवार को पीएम और सीईओज की मीटिंग और डिनर के लिए 26 डिशेज बनाई थीं। यह भारत के अलग-अलग फेस्टिवल में परोसी जाने वाली डिशेज थीं। विकास के मुताबिक, डिनर के बाद मोदी ने उन्हें गले लगाया और अपने ऑटोग्राफ वाला तिरंगा गिफ्ट किया।

बता दें कि न्यूयॉर्क के फाइव स्टार होटल वॉल्डोर्फ एस्टोरिया में हुए डिनर में लॉकहीड मार्टिन की प्रेसिडेंट मार्लिन ए ह्यूसन, फोर्ड मोटर के प्रेजिडेंट मार्क फील्ड्स, पेप्सिको कंपनी की सीइओ इंदिरा नूई, जॉनसन एंड जॉनसन के प्रेजिडेंट जार्ज मेस्क्विटा समेत दुनिया के कई बड़ी कंपनियों के CEOs शामिल हुए थे। हालांकि इस पर फिलहाल पीएम मोदी का कोई बयान सामने नहीं आया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पाकिस्तान ने UN को लिखी चिट्ठी, भारत की दीवार नियंत्रण रेखा पर
2 यूजर्स के अकाउंट से अरबों की कमाई करता है Facbook, जानें कैसे?
3 IS ने माना कि यमन मस्जिद पर उसी ने किया था बम विस्फोट
यह पढ़ा क्या?
X