ताज़ा खबर
 

ड्रैगन से बढ़ रही पाकिस्‍तान की नजदीकी? चीन की सेना के साथ मिलकर PoK में किया गश्‍त

चीन की सरकारी मीडिया ने संयुक्त गश्त के बारे में जानकारी दी जबकि चीन के राष्ट्रपति ने चीन के मुस्लिमों से कहा था कि वे अपने धर्म का पालन ‘चीन के समाज एवं निर्देश के तहत करें।’

Author बीजिंग | July 21, 2016 7:32 PM
चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) (AP Photo/Andy Wong/File Photo)

चीन और पाकिस्तान के सीमा सैनिकों ने पहली बार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर और शिन्जियांग प्रांत की सीमा पर संयुक्त गश्त की है। यह गश्त इन खबरों के बीच हुई है कि 100 से अधिक उइगर आईएसआईएस में शामिल होने के लिए इस अशांत क्षेत्र से भाग गए हैं। चीन की सरकारी मीडिया ने संयुक्त गश्त के बारे में जानकारी दी जबकि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने चीन के मुस्लिमों से कहा था कि वे अपने धर्म का पालन ‘चीन के समाज एवं निर्देश के तहत करें।’

द पीपुल्स डेली ऑनलाइन ने गुरुवार (21 जुलाई) को करीब दर्जन भर तस्वीरें प्रकाशित की जिसका शीर्षक था ‘शिन्जियांग प्रांत में पाकिस्तान की सीमा पुलिस बल के साथ पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की सीमांत रक्षा रेजीमेंट ने चीन-पाकिस्तान सीमा पर एक संयुक्त गश्त की।’ तस्वीरों में दिखाया गया है कि दोनों ओर से सशस्त्र सैनिक कई क्षेत्रों में पैदल गश्त कर रहे हैं। ऐसा पहली बार हुआ है जब चीन-पाकिस्तान ने हाल के वर्षों में संयुक्त गश्त की है। हालांकि चीन के सैनिक क्षेत्र में 2014 से ही गश्त कर रहे हैं।

भारत से भिड़ने को 80,000 सैनिक भेज सकता है चीन, बॉर्डर पर ऐसे जवाब देने की तैयारी कर रही आर्मी

यद्यपि इस संयुक्त गश्त और इस बारे में जानकारी मुहैया कराने वाला कोई आलेख नहीं आया है कि दोनों देश इसे शुरू करने के क्यों प्रेरित हुए लेकिन यह ऐसे समय आया है जब यह खबर आयी है कि 100 से अधिक उइगर मुस्लिम आईएसआईएस में शामिल होने के लिए शिन्यिांग से निकले हैं। द न्यू अमेरिका फाउंडेशन ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि कुछ मुस्लिम प्रथाओं को प्रतिबंधित करना या उन पर सख्त नियंत्रण के चलते कई आईएसआईएस में शामिल हुए हैं। इन प्रतिबंधों में दाढ़ी बढ़ाने और रमजान के दौरान रोजे पर रोक शामिल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X