ताज़ा खबर
 

जिन्हें टीका नहीं चाहिए वो भारत चले जाएं, फिलीपींस के राष्ट्रपति की नागरिकों को धमकी- जेल में डाल देंगे

फिलीपींस की स्थानीय मीडिया के मुताबिक, दुतर्ते ने जनता को धमकी देते हुए कहा कि उन्हें जबरदस्ती ताकत इस्तेमाल करने पर मजबूर न किया जाए।

फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने खुद चीन की साइनोफार्म की वैक्सीन लगवाई थी। (फोटो- AP)

फिलीपींस में काफी धीमी गति से चल रहे कोरोना टीकाकरण अभियान पर राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने धमकी दी है कि अगर कोई कोरोना वैक्सीन लगवाने से इनकार करता है तो उसे जेल में डाला जाएगा या उसे जानवरों में करने के लिए दिया जाने वाला आइवरमेक्टिन का इंजेक्शन दिया जाएगा। सोमवार देर शाम राष्ट्र के नाम संदेश में दुतर्ते ने यहां तक कह दिया कि अगर कोई वैक्सीन नहीं लगवाना चाहता तो वह भारत या अमेरिका में कहीं भी जा सकता है।

अपने बेबाक और अटपटे बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले दुतर्ते ने कहा कि फिलीपींस फिलहाल एक राष्ट्रीय आपातकाल से जूझ रहा है। उन्होंने वायरस को रोकने के लिए प्रयासों को तिगुना करने की बात कही। इसी दौरान उन्होंने विवादास्पद बयान देते हुए कहा कि अगर कोई वैक्सीन लेने से इनकार करता है, तो हम उन्हें गिरफ्तार करेंगे और फिर मैं उनके वैक्सीन लगवा दूंगा। दुतर्ते ने वैक्सीन न लेने वालों को हानिकारक कीट (जीव) करार देते हुए कहा कि हम पहले से ही संकट से गुजर रहे हैं और ऐसे लोग बोझ बढ़ा रहे हैं।

फिलीपींस की स्थानीय मीडिया के मुताबिक, दुतर्ते ने जनता को धमकी देते हुए कहा कि उन्हें जबरदस्ती ताकत इस्तेमाल करने पर मजबूर न किया जाए। राष्ट्रपति ने कहा, “अगर आप वैक्सीन नहीं लेना चाहते, तो फिलीपींस छोड़ दें। चाहे तो भारत चले जाएं या अमेरिका में कहीं। लेकिन जब तक आप यहां हैं और एक ऐसे इंसान हैं, जो वायरस फैला सकता है, तो खुद को टीका लगवना लें।”

कोरोना से फिलीपींस के हालात बिगड़े: बता दें कि कोरोनावायरस से फिलीपींस के हालात बेहद खराब हैं। यहां अब तक 10 लाख से ज्यादा केस आ चुके हैं, जबकि करीब 20 हजार मौतें भी हुई हैं। इसके बावजूद स्थानीय मीडिया ऩे कुछ स्टडीज के हवाले से दावा किया है कि फिलीपींस की आधी से ज्यादा आबादी वैक्सीन नहीं लेना चाहती। तकरीबन 11 करोड़ की आबादी वाले फिलीपींस में अब तक 21 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है, जबकि सरकार ने इस साल 7 करोड़ लोगों को टीका देने का लक्ष्य रखा है।

वैक्सिनेशन में इस धीमी गति को लेकर ही राष्ट्रपति दुतर्ते अपने देश के लोगों से नाराज बताए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को वैक्सीन नहीं लगी है, वे वायरस को फैलाने वालों में शामिल हैं, क्योंकि वे घूम-घूमकर संक्रमण आगे बढ़ा सकते हैं। उन्होंने अपने अफसरों से ऐसे लोगों की पहचान करने को कहा है, जो वैक्सीन लगवाने से इनकार कर रहे हैं।

Next Stories
1 नेपाल में गहराया राजनीतिक संकट, सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केपी ओली के 20 कैबिनेट मंत्रियों की नियुक्ति की रद्द
2 किम जोंग उन की बहन ने अमेरिका को भी सुनाई खरी खोटी, बोलीं- फालतू की उम्मीद न रखो
3 न्यायमूर्ति जमाल : कनाडा सुप्रीम कोर्ट में प्रथम भारतीय अश्वेत जज
ये पढ़ा क्या?
X