ताज़ा खबर
 

फिलीपीन में संघर्ष, 18 सैनिक और पांच उग्रवादी मरे

सेना के अधिकारियों ने बताया कि सरकारी बलों को अबु सैयाफ के कमांडर इस्निलान हैपीलोन को जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए तैनात किया गया है।

Author मनीला | April 11, 2016 04:06 am
अबु सैयाफ के उग्रवादियों और उनके साथी बंदूकधारियों के साथ दिन भर चले संघर्ष में कम से कम 53 सैनिक घायल हुए हैं। (रॉयटर्स ग्राफिक्स)

फिलीपीन में अबु सैयाफ के चरमपंथियों के साथ संघर्ष में 18 सैनिकों की मौत हो गई। इस संघर्ष में पांच इस्लामी उग्रवादी भी मारे गए जिनमें एक लड़ाका मोरक्को का है। यह जानकारी फिलीपीन की सेना ने दी है। क्षेत्रीय सेना के प्रवक्ता मेजर फिलमोन तान और सैन्य अधिकारियों ने बताया कि बासिलान द्वीप पर तीपो तीपो और अल बरका शहरों की सीमा से लगे इलाकों में अबु सैयाफ के उग्रवादियों और उनके साथी बंदूकधारियों के साथ दिन भर चले संघर्ष में कम से कम 53 सैनिक घायल हुए हैं।

देश के दक्षिणी हिस्से में एक ही दिन संघर्ष के दौरान इतनी बड़ी संख्या में सैनिकों के हताहत होने को देश में सेना के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। यह संघर्ष शनिवार हुआ और देश में दूसरे विश्व युद्ध में मारे गए फिलीपीनी युद्ध नायकों की स्मृति में शनिवार को ही वीरता दिवस भी मनाया जा रहा था। इस साल दक्षिण में हुए संघर्ष के दौरान सरकार की ओर से गंवाए गए सैनिकों की यह सबसे बड़ी संख्या है। दक्षिणी हिस्से में सेना मुसलिम अलगाववादी विद्रोहियों, चरमपंथियों और मार्क्सवादी छापामारों से लड़ रही है। सेना के अधिकारियों ने बताया कि सरकारी बलों को अबु सैयाफ के कमांडर इस्निलान हैपीलोन को जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए तैनात किया गया है।

तीन सैन्य अधिकारियों ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर बताया कि हैपीलोन ने सार्वजनिक रूप से इस्लामिक स्टेट समूह के प्रति निष्ठा का ऐलान किया है और कई आतंकी हमलों में संलिप्तता के चलते सालों से उसकी तलाश की जा रही है।अमेरिका ने हैपीलोन को पकड़वाने या उसके अभियोजन में मददगार सुराग देने वालों को 50 लाख डालर का इनाम देने का ऐलान किया है। सैन्य अधिकारियों ने बताया कि अबु सैयाफ के कई उग्रवादियों के पास एम 203 ग्रेनेड लांचर थे। यह संघर्ष नौ घंटे से ज्यादा समय तक चला। मारे गए उग्रवादियों में एक उग्रवादी मोहम्मद खत्तब मोरक्को का था। उग्रवादियों मेंं हैपीलोन का एक बेटा भी शामिल है। करीब 20 अन्य बंदूकधारी घायल भी हुए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App