ताज़ा खबर
 

फिलीपीनी युद्धक विमान ने गलती से अपने ही सुरक्षा बलों पर गिराया बम, 11 सैनिकों की मौत

पिछले मंगलवार को यह संघर्ष तब शुरू हुआ जब बंदूकधारियों ने इस्लामिक स्टेट समूह का काला झंडा लहराते मुस्लिम बहुल शहर में हिंसा की।

Author June 1, 2017 13:48 pm
फोटो का इ (PTI)

फिलीपीन के वायु सेना के एक विमान ने चरमपंथियों पर बम गिराए थे लेकिन एक बम गलती से उनके ही खेमे में जा गिरा जिससे 11 सैनिकों की मौत हो गई और सात अन्य जख्मी हो गए। सरकारी बल दक्षिणी शहर में लोगों को एक हफ्ते से बंधक बनाए आतंकवादियों को खेदड़ने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर रेस्टिटुटो पैडिला ने गुरूवार (1 जून) को कहा कि मार्चेटी एस-211 जेट कल मरावी शहर में आतंकवादियों पर बम गिरा रहा था लेकिन एक बम सैनिकों पर जा गिरा जो चरमपंथियों के साथ निकट से मुकाबला कर रहे हैं। आतंकवादियों ने इमारतों और घरों में कवर लिया हुआ है।

विमान ने तीन बार लक्ष्य पर सफलतापूर्वक बम गिराए जिसके बाद एक बम गलती से उनके ही खेमे पर गिर गया। प्रवक्ता ने कहा कि सेना ने इस घटना के जांच के आदेश दे दिए हैं जो विद्रोहियों को रोकने में सरकारी बलों को हो रही चुनौतियों को दर्शाता है बावजूद इसके कि सैनिकों की संख्या अधिक है।

रिपोर्ट के अनुसार फिलीपीन के सुरक्षा बलों सिर्फ दक्षिणी शहर में एक हफ्ते के दौरान 89 इस्लामी आतंकियों को मार गिराया है लेकिन बंदूकधारी अब भी कड़ी चुनौती दे रहे हैं और लोगों को बंधक बनाए हुए हैं। सैनिकों द्वारा घरों की तलाशी के दौरान उनके साथ रहे एएफपी का एक संवाददाता के मुताबिक, युद्धक हेलीकॉप्टरों ने बुधवार की सुबह मरावी शहर के विभिन्न हिस्सों में लगातार रॉकेट दागे जहां फंसे हुए नागरिकों के साथ आतंकी छुपे हुए थे।

पिछले मंगलवार को यह संघर्ष तब शुरू हुआ जब बंदूकधारियों ने इस्लामिक स्टेट समूह का काला झंडा लहराते मुस्लिम बहुल शहर में हिंसा की। उन्होंने यह सुरक्षा बलों द्वारा एक फिलीपीनी को गिरफ्तार करने की कोशिश की प्रतिक्रिया में किया। फिलीपीन का यह नागरिक अमेरिकी सरकार की, वांछित आतंकियों की सूची में शामिल है। सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल रिस्टिटीयू पडिल्ला ने कहा कि आतंकवादियों का नेता इसनीलों हपिलों बचकर निकल गया है लेकिन ऐसा माना जाता है कि वह मरावी में है।

देखिए वीडियो - BBC का दावा- नवाज शरीफ ने सेना से कहा सज्जन जिंदल के साथ मुलाकात "बैक चैनल डिप्लोमेसी"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App