ताज़ा खबर
 

पेशावर के सैनिक स्कूल में हमला होने के बाद पाकिस्तान के 182 मदरसे हुए बंद

पेशावर के सैनिक स्कूल पर 2014 के आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तानी अधिकारियों ने आतंकवाद में कथित रूप से शामिल मदरसों के खिलाफ देशव्यापी अभियान में 182 मदरसों को बंद किया है। एसोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान (एपीपी) ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि पंजाब, सिंध और खबर पख्तूनख्वा के मदरसों को बंद किया […]

Author इस्लामाबाद | February 2, 2016 1:33 AM
पेशावर के सैनिक स्कूल की एक फाइल फोटो

पेशावर के सैनिक स्कूल पर 2014 के आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तानी अधिकारियों ने आतंकवाद में कथित रूप से शामिल मदरसों के खिलाफ देशव्यापी अभियान में 182 मदरसों को बंद किया है। एसोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान (एपीपी) ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि पंजाब, सिंध और खबर पख्तूनख्वा के मदरसों को बंद किया गया है। क्योंकि चरमपंथ को बढ़ावा देने में उनकी कथित संलिप्तता थी।

रिपोर्ट के अनुसार यह कार्रवाई राष्ट्रीय कार्रवाई योजना (एनएपी) के तहत की गई। 2014 के दिसंबर में सेना के स्कूल पर आतंकवादी हमले के बाद एनएपी बनाई गई थी। इस बीच, आतंकवादी गतिविधियों के लिए वित्तपोषण पर अंकुश लगाने के लिए स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) ने अभी तक 126 बैंक खातों में तकरीबन एक अरब रूपये के परिचालन पर रोक लगा दी है। इन खातों का संबंध प्रतिबंधित आतंकवादी समूहों के साथ था।

कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने भी 25 करोड़ 10 लाख रुपये नकद बरामद किए। सरकार ने 8,195 लोगों का नाम चौथी अनुसूची में डाल दिया है जबकि 188 लोगों का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट पर डाला गया है। 2052 कट्टर आतंकवादियों की गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है। इसी तरह सरकार ने संदिग्ध आतंकवादियों के खिलाफ 1026 मामले दर्ज किए हैं और 230 संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। देश में 64 प्रतिबंधित संगठन हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App