ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान हुकूमत के खिलाफ आक्रोश, गिलगिट-बाल्टिस्तान में सड़कों पर उतरी जनता

दरअसल पाकिस्तानी सरकार ने विकास के नाम पर गिलगित-बाल्टिस्‍तान क्षेत्र में जमीनों, संपत्तियों और संसाधनों का अधिग्रहण किया है। सरकार ने गिलगित एयरपोर्ट के निर्माण समेत विकास के नाम पर यहां के लोगों की जमीन का अधिग्रहण किया था।

गिलगिट-बाल्टिस्‍तान में प्रदर्शन, लोगों ने मांगा अधिग्रहीत जमीन का मुआवजा। (pc- ANI/twitter)

Gilgit-Baltistan hold protest against pakistan: जम्मू और कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और भारत पर लगातार निशाना साध रहा है। लेकिन इसी बीच उन्हीं के लोगों ने पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सरकार के खिलाफ गिलगिट-बाल्टिस्तान के लोग सड़कों पर उतर आए हैं। दरअसल पाकिस्तानी सरकार ने विकास के नाम पर गिलगित-बाल्टिस्‍तान क्षेत्र में जमीनों, संपत्तियों और संसाधनों का अधिग्रहण किया है। सरकार ने गिलगित एयरपोर्ट के निर्माण समेत विकास के नाम पर यहां के लोगों की जमीन का अधिग्रहण किया था। इस बात से नाराज़ स्‍थानीय लोग सड़कों पर उतार आए और सरकार से मुआवजे की मांग करने लगे।

स्‍थानीय लोगों से सरकार ने 10 साल पहले विकास के नाम पर ये जमीन ले ली थी। कहा गया था कि यहां गिलगित एयरपोर्ट बनेगा लेकिन इस जमीन के लिए उन्हें अबतक कोई मुआवजा नहीं दिया गया है। सोमवार को लोग भारी मात्रा में पोस्टर लेकर सड़क पर प्रदर्शन करते नज़र आए। बता दें पाकिस्तान भारत द्वारा कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने से नाराज़ है। जिसके चलते पाकिस्तान ने बुधवार को भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कमतर करने का फैसला किया और द्विपक्षीय व्यापार रोक दिया। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को भारत द्वारा रद्द किये जाने के बाद पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है।

इतना ही नहीं इस फैसले से नाराज़ पाक ने भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को निष्कासित करने और द्विपक्षीय संबंध स्थगित करने का निर्णय भी लिया है। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने बैठक के बाद कहा, “हमारे राजदूत अब दिल्ली में नहीं रहेंगे और उनके राजदूत को भी हम वापस भेजेंगे।”बैठक के बाद जारी एक बयान के अनुसार, एनएससी ने भारत संग कूटनीतिक संबंध डाउनग्रेड करने, द्विपक्षीय व्यापार निलंबित करने, द्विपक्षीय व्यवस्थाओं की समीक्षा करने, मामले को संयुक्त राष्ट्र ले जाने और 14 अगस्त को पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस कश्मीरियों के साथ एकजुटता जताने के लिए मनाने का फैसला किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पाकिस्तानी कोर्ट ने आतंकी हाफिज सईद को ठहराया दोषी, गुजरात शिफ्ट किया गया मुकदमा
2 कारोबारी मुकेश अंबानी को बड़ा झटका, एक दिन में गंवा दिए करीब 17 हजार करोड़!
3 आर्टिकल 370: PM इमरान खान ने कहा- भारत में जो हुआ, वह RSS का एजेंडा; होगा एक और पुलवामा, हम जाएंगे UN
IPL 2020 LIVE
X