ताज़ा खबर
 

पेंस ने उत्तर कोरिया को दी चेतावनी, कहा- खत्म हुआ रणनीतिक धैर्य

अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस उत्तर और दक्षिण कोरिया को विभाजित करने वाले तनावपूर्ण क्षेत्र में पहुंचे और प्योंगयांग को चेताया कि अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं से कई वर्षों तक अमेरिका और दक्षिण कोरिया का इम्तिहान लेने के बाद ‘‘रणनीतिक धैर्य का युग खत्म हो गया है।

Author पैन्मुन्जोम | April 17, 2017 6:59 PM
अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस

अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस उत्तर और दक्षिण कोरिया को विभाजित करने वाले तनावपूर्ण क्षेत्र में पहुंचे और प्योंगयांग को चेताया कि अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं से कई वर्षों तक अमेरिका और दक्षिण कोरिया का इम्तिहान लेने के बाद ‘‘रणनीतिक धैर्य का युग खत्म हो गया है। पेंस ने आज अमेरिका का शक्ति प्रदर्शन करते हुए एशिया की दसदिवसीय यात्रा की शुरूआत पर असैनिकीकृत क्षेत्र का बिना घोषणा के दौरा किया। इस दौरान उपराष्ट्रपति ने इस क्षेत्र से उत्तर कोरियाई सैनिकों को देखा और कांटेदार तार से सीमा के पार नजर दौड़ाई।

बमरोधी जैकेट पहने पेंस को सैन्य सीमांकन रेखा के पास जानकारी दी गई। उत्तर कोरिया के दो सैनिकों ने उन्हें बहुत पास की दूरी से देखा और एक ने तो उनकी कई तस्वीरें लीं। पेंस ने संवाददाताओं से कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आशा है कि चीन उत्तर कोरिया पर उसका हथियार कार्यक्रम छोड़ने का दबाव बनाने के लिए अपने ‘‘असाधारण बल’’ का प्रयोग करेगा।

पेंस ने यह टिप्पणी ऐसे समय की जबकि कल उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण किया जो असफल रहा। हालाकि पेंस ने परमाणु हथियारों और बालिस्टिक मिसाइलों से छुटकारा पाने की तरफ कदम बढाने की उत्तर कोरिया की अनिच्छा को लेकर नाखुशी जताई। उन्होंने घोषणा की, ‘‘लेकिन रणनीतिक धैर्य का युग खत्म हो चुका है।

वहीं दूसरी ओर अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा है कि डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) द्वारा नवीनतम मिसाइल परीक्षण उकसावे की कार्रवाई है। एच.आर. मैकमास्टर ने अमेरिकन ब्रॉडकॉस्टिंग कंपनी के साथ एक साक्षात्कार में कहा, “यह उत्तर कोरियाई (डीपीआरके) शासन की ओर से उकसावे वाला और अस्थिरता लाने वाला खतरनाक आचरण है। दक्षिण कोरिया के जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ (जेसीएस) ने कहा था कि डीपीआरके ने रविवार तड़के अपने पूर्वी तट से मिसाइल लांच किया था, हालांकि इस अज्ञात मिसाइल लांच को असफल माना गया था। इसके बाद पेंटागन ने भी डीपीआरके के नवीनतम मिसाइल लांच के असफल होने की पुष्टि की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App