ताज़ा खबर
 

पनामा पेपर्स: जांच के वादे के बाद भी नवाज पर दबाव जारी

डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक जमात के प्रमुख ने सलाह दी कि सरकार सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को जांच आयोग के गठन के सिलसिले में पत्र लिख रही है

Author इस्लामाबाद | April 24, 2016 00:36 am
नवाज शरीफ: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बेटों हुसैन और हसन के अलावा बेटी मरियम नवाज ने टैक्स हेवेन माने जाने वाले ब्रिटिश वर्जिन आयलैंड में कम से कम चार कंपनियां शुरू कीं। इन कंपनियों से इन्होंने लंदन में छह बड़ी प्रॉपर्टीज खरीदीं। शरीफ फैमिली ने इन प्रॉपर्टीज को गिरवी रखकर डॉएचे बैंक से करीब 70 करोड़ रुपए का लोन लिया। (फाइल फोटो)

पनामा पेपर्स लीक मामले में जांच की पेशकश और भ्रष्टाचार का आरोप साबित होने पर गद्दी से हटने के पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के वादे के बाद भी विपक्षी पार्टियों ने उन पर दबाव बनाना जारी रखा है। कौमी असेंबली में विपक्षी नेता खुर्शीद शाह ने जमात-ए-इस्लामी के प्रमुख सिराजुल हक और तहरीक-ए-इंसाफ के शाह महमूद कुरैशी को फोन किया और शरीफ परिवार व अन्य पाकिस्तानियों के विदेशी खातों से जुड़े घोटाले पर अनेक विकल्पों पर चर्चा की।

डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक जमात के प्रमुख ने सलाह दी कि सरकार सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को जांच आयोग के गठन के सिलसिले में पत्र लिख रही है और विपक्षी पार्टियों को भी इसी तरह का आग्रह उन्हें भेजना चाहिए और कहना चाहिए कि वह सरकार का आग्रह नहीं ठुकराएं। हक ने कहा कि मुख्य न्यायाधीश को पनामा पेपर्स लीक घोटाले की न सिर्फ जांच करनी चाहिए, बल्कि लूटा हुआ धन विदेशों से लाना चाहिए और अपराध के लिए जिम्मेदार लोगों को मिसाली सजा देनी चाहिए। इंसाफ नेता ने कहा कि उनकी पार्टी सरकार के पत्र का अध्ययन करने के बाद कोई फैसला करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App