ताज़ा खबर
 

PANAMA PAPERS: ब्रितानी प्रधानमंत्री ने जारी किया अपना आयकर रिटर्न

डाउनिंग स्ट्रीट ने 2009-10 से 2014-15 के दौरान कैमरन की आय और कर भुगतान के दस्तावेज जारी किए हैं।

Author लंदन | April 10, 2016 11:25 PM
ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन (फाइल फोटो)

डेविड कैमरन अपना व्यक्तिगत आयकर रिटर्न सार्वजनिक करने वाले ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री हो गए हैं। इसके साथ ही कैमरन ने पनामा दस्तावेजों की जांच के लिए एक नए कार्यबल का गठन किया है। कैमरन ने अपने दिवंगत पिता के विदेशी कारोबार में निवेश को लेकर मचे हंगामे के बीच यह कदम उठाया है।

पनामा दस्तावेज घोटाले के विरोध में कैमरन के इस्तीफे की मांग उठ रही है। शनिवार को हजारों प्रदर्शनकारियों ने डाउनिंग स्ट्रीट पर इसके विरोध में मार्च किया। प्रदर्शनकारी कैमरन के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। इस दबाव के बीच डाउनिंग स्ट्रीट ने 2009-10 से 2014-15 के दौरान कैमरन की आय और कर भुगतान के दस्तावेज जारी किए हैं। प्रधानमंत्री द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार उन्होंने वित्त वर्ष 2014-15 में दो लाख पाउंड से अधिक की आमदनी पर 76 हजार पाउंड का कर अदा किया। वह ब्रिटेन के पहले नेता हैं, जिन्होंने अपने वित्तीय मामलों के दस्तावेज जारी किए हैं।

2009 से प्रधानमंत्री की आमदनी के आंकड़ों के मुताबिक 49 साल के कैमरन को लंदन के नाटिंग हिल में परिवार के मकान के किराए में 50 फीसद हिस्सेदारी के रूप में 46,899 पाउंड मिले। कैमरन ने इससे पहले कहा था कि उन्हें पनामा के लीक दस्तावेजों से पैदा हुए विवाद से कुछ बेहतर तरीके से निपटना चाहिए था। उन्होंने कहा था कि वह अपने व्यक्तिगत आयकर मामलों को प्रकाशित करेंगे। इससे कुछ घंटे बाद ही कैमरन ने यह कदम उठाया। उन्होंने कहा, ‘मैं जानता हूं कि कुछ सबक सीखने की जरूरत है। मैं उन्हें सीखूंगा।’

प्रधानमंत्री ने एक नए कार्यबल का भी गठन किया है जो कर चोरी के आरोपों की जांच करेगा। उनकी स्वीकरोक्ति के बाद भी यह कार्यबल संभवत: उनके खिलाफ कार्रवाई से बचेगा नहीं। इस कार्यबल की अगुवाई एचएमआरसी कर प्राधिकरण और राष्ट्रीय अपराध एजंसी करेगी। कार्यबल पनामा के लीक दस्तावेजों की जांच करेगा और उन लोगों की पहचान करेगा जिन पर धनशोधन और कर चोरी का संदेह है। कार्यबल अपने निष्कर्ष इसी साल बाद में जारी करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App