ताज़ा खबर
 

ISIS द्वारा विस्फोट से उड़ाया गया पलमायरा शहर, सीरियाई रेगिस्तान का मोती है

सीरिया में जारी गृह युद्ध की मार झेल रहा और अब इस्लामिक स्टेट के कब्जे में आ चुका पाल्मायरा एक ऐसा प्राचीन सीरियाई शहर है जो अपने पवित्र मंदिरों एवं स्तम्भों से सजी सड़कों के साथ पिछले 2000 वर्षों से इतिहास में आए उतार-चढाव का गवाह रहा है।
Author August 24, 2015 17:30 pm

सीरिया में जारी गृह युद्ध की मार झेल रहा और अब इस्लामिक स्टेट के कब्जे में आ चुका पाल्मायरा एक ऐसा प्राचीन सीरियाई शहर है जो अपने पवित्र मंदिरों एवं स्तम्भों से सजी सड़कों के साथ पिछले 2000 वर्षों से इतिहास में आए उतार-चढाव का गवाह रहा है।

यूनेस्को के एक वैश्विक धरोहर स्थल के रूप में सूचीबद्ध ‘रेगिस्तान का यह मोती’ दमिश्क के पश्चिमोत्तर में 210 किलोमीटर दूर स्थित मरू उद्यान है। पाल्मायरा का अर्थ है ‘खजूर के पेड़ों का शहर’। इसके सीरिया में टडमोर या ‘खजूरों के शहर’ के रूप में जाना जाता है।

पाल्मायरा को असल पहचान रोमन साम्राज्य के दौरान ई.पू. की पहली सदी की शुरूआत में मिली और वह आगामी 400 वर्षों तक काफी महत्वपूर्ण रहा। रेगिस्तानी टीले से घिरे होने के बावजूद फोएनिसिया से प्रतिमाओं एवं कांच और पूर्व से हाथी दांतों, मसालों, इत्रों और रेशम के कारोबार के कारण पाल्मायरा एक समृद्ध महानगर के रूप में विकसित हुआ। वर्ष 129 ईसा पश्चात् में रोमन सम्राट हैड्रियन ने पाल्मायरा को अपने साम्राज्य के भीतर ‘मुक्त शहर’ घोषित किया।

शेष सदी में अगोरा और भगवान बेल (बाल) के मंदिर समेत इसके प्रसिद्ध मंदिरों का निर्माण किया गया। दूसरी सदी में ईसाई धर्म के यहां आने के पहले पाल्मायरा में बेबीलोनियाई भगवान बेल, यार्हीबोल (सूर्य) और अग्लिबोल (चंद्रमा) के रूप में त्रिदेवों की पूजा की जाती थी। तीसरी सदी में रोमन साम्राज्य के आंतरिक राजनीतिक अस्थिरता का सामना करने के कारण पाल्मायरा को इस दौर में स्वयं को स्वतंत्र घोषित करने का अवसर मिला।

पाल्मायरा के लोगों ने जेनोबिया के नेतृत्व में पश्चिम में रोमवासियों और पूर्व में फारसी बलों को भगा दिया। जेनोबिया इसके बाद रानी के सिंहासन पर विराजमान हुईं लेकिन रोमन सम्राट औरेलियन के शहर पर फिर से कब्जा करने के बाद शक्तिशाली रानी को रोम वापस ले जाया गया और पाल्मायरा की महत्ता कम होने लगी थी।

मार्च 2011 में सीरिया में संकट शुरू होने से पूर्व खूबसूरत प्रतिमाओं और 1000 से अधिक स्तम्भों से सजे इस प्राचीन शहर का नजारा देखने के लिए प्रतिवर्ष 1,50,000 से अधिक पर्यटक पाल्मायरा आया करते थे। यह प्राचीन शहर अब सीरिया में जारी युद्ध के कारण सशस्त्र विद्रोहियों और सरकारी बलों के बीच संघर्षों का दंश झेल रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.