ताज़ा खबर
 

फलस्तीनी की अपील, इस्राइल के साथ शांति वार्ता के लिए समय सीमा तय हो

राष्ट्रपति अब्बास ने ‘द्विराष्ट्र’ समाधान को हासिल करने की संभावनाओं को लेकर फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क आयरा से भी बातचीत की।

Author पेरिस | July 31, 2016 5:24 PM
पेरिस में फलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास से मुलाकात करते अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी। (AP/PTI)

पेरिस में अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी के साथ बैठक के बाद फलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने कहा कि इस्राइल के साथ शांति वार्ता की कोई भी शुरुआत एक निश्चित समय सीमा के साथ और अंतरराष्ट्रीय देखरेख के अंतर्गत होनी चाहिए। वरिष्ठ फलस्तीनी अधिकारी साएब इराकात ने कहा कि अब्बास ने ‘द्विराष्ट्र’ समाधान को हासिल करने की संभावनाओं को लेकर फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क आयरा से भी बातचीत की। उन्होंने दोनों वार्ताओं को ‘काफी रचनात्मक’ बताया।

शनिवार (30 जुलाई) को इराकात ने संवाददाताओं को बताया, ‘हमें वार्ता के लिए एक समयसीमा की जरूरत है और इसके क्रियान्वयन के लिए भी एक खास समयसीमा की जरूरत है, और हमें एक अंतरराष्ट्रीय रूपरेखा की जरूरत है जो किसी भी समझौते के क्रियान्वयन को सुनिश्चित कर सके।’ फ्रांस ने 2014 के अंतिम दौर की वार्ता की विफलता के बाद इस्राइली-फलस्तीनी शांति वार्ता को फिर से बहाल करने के लिए एक ताजा पहल की अगुवाई की है।

इराकात ने कहा, ‘अब्बास ने फ्रांस के इस पहल में इस साल के अंत तक एक अंतराष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने को लेकर हमारे पूर्ण समर्थन को फिर से दोहराया है।’ फलस्तीनी वार्ताकार ने बताया कि, अवरोध को तोड़ने और शांति वार्ता को आगे बढ़ाने को लेकर चल रहे गतिरोध को तोड़ने के लिए फ्रांस, अमेरिका और अभी हाल के मिस्र के प्रयासों के बीच ‘कोई विरोधाभास नहीं है’।

उन्होंने बताया, ‘इन सभी प्रयासों का उद्देश्य 1967 की तर्ज पर आधारित द्विराष्ट्रीय समाधान निकालने के लिए शांतिवार्ता को बहाल करना है। जो एक-दूसरे के पूरक हैं।’ केरी ने भी फ्रांसीसी समकक्ष से इस्राइली-फलस्तीनी संघर्ष के मुद्दे पर बातचीत की। एक विज्ञप्ति में अमेरिका की ओर से कहा गया, ‘हिंसा को रोकने के लिए सभी दलों के मजबूत नेतृत्व और सार्थक विचार-विमर्श के लिए व्यवहारिक कदम उठाने को लेकर वे सहमत हुए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X