ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद अब्बासी ने कहा- भारत को जवाब देने के लिए बनाए हैं शॉर्ट-रेंज परमाणु हथियार

कार्यक्रम के संचालक ने कहा कि पाकिस्तान का परमाणु जखीरा दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रहा है।

पाकिस्तान की परमाणु मिसाइल की फाइल फोटो। (तस्वीर -एपी)

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाक़ान अब्बासी ने गुुरुवार (21 सितंबर) कहा है कि उनके देश ने  “शॉर्ट-रेंज वाले परमाणु हथियार” बना लिये हैं। पाकिस्तानी पीएम अब्बासी ने कहा कि ये हथियार उन्होंने “भारत की कोल्ड स्टार्ट नीति के जवाब में” बनाया है। अब्बासी ने कहा कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार सुरक्षित हैं। अब्बासी अमेरिकी थिंक-टैंक काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। अब्बीसी ने एक सवाल के जवाब में कहा, “हमारे पास परमाणु हथियारों का काफी बेहतरीन कमांड और कंट्रोल सिस्टम है। वक्त ने साबित किया है कि ये सिस्टम बहुत सुरक्षित है।  परमाणु हथियारों पर नागरिक नियंत्रण है।” पाकिस्तानी परमाणु हथियारों का नियंत्रण वहां की न्यूक्लियर कमांड अथॉरिटी (एनसीए) के हाथ में है। यही संस्था परमाणु हथियारों के संचालन, नियंत्रण और प्रयोग का निर्णय लेने के लिए अधिकार-प्राप्त है। भारतीय सेना  “कोल्ड स्टार्ट” जैसी कोई नीति बनाने से इनकार करती रही है। जबकि मीडिया में आई कुछ खबरों में दावा किया जाता रहा है कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान के साथ युद्ध की स्थित में परमाणु हमले से बचने के लिए ये नीति बना रखी है।

 

अब्बासी ने आगे कहा, “जहां तक परमाणु हथियारों के रणनीतिगत इस्तेमाल की बात है तो हमने अभी तक किसी रणनीतिगत परमाणु हथियार की तैनाती नहीं की है। हमने भारत की कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत के जवाब में शॉर्ट-रेंज परमाणु हथियार बनाए हैं। वो भी उसी कमांड और कंट्रोल संस्था के तहत है जिसके तहत दूसरे रणनीतिगत हथियार हैं।” बातचीत का संचालन कर रहे डेविड संगर ने कार्यक्रम में कहा कि पाकिस्तान दुनिया में सबसे तेजी से परमाणु हथियार बना रहा देश है।

डेविड ने कहा, “दुनिया में किसी देश का परमाणु जखीरा इतनी तेजी से नहीं बढ़ रहा। और उत्तर कोरिया को छोड़कर दुनिया में दूसरा कोई देश ऐसा नहीं है जिसके परमाणु जखीरे को लेकर अमेरिका चिंतित है। चिंता की मूल वजह है परमाणु हथियारों की सुरक्षा। अमेरिकी परमाणु हथियारों के कमांड और कंट्रोल सिस्टम को लेकर चिंतित है।”

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री अब्बासी ने कहा कि पाकिस्तानी परमाणु हथियारों के आतंकवादियों के हाथ लगने को लेकर आशंकित रहने की जरूरत नहीं है। अब्बासी ने कहा, “पिछले 20 साल इसके गवाह हैं।” अब्बासी ने कहा कि पाकिस्तान एक जिम्मेदार वैश्विक नागरिक है। अब्बासी ने कहा, “पिछले 15 सालों से आतंकवाद से लड़ते हुए हम अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं।”

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App