ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 94
    BJP+ 80
    RLM+ 0
    OTH+ 25
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 110
    BJP+ 108
    BSP+ 6
    OTH+ 6
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 64
    BJP+ 18
    JCC+ 8
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 89
    TDP-Cong+ 22
    BJP+ 2
    OTH+ 6
  • मिजोरम

    MNF+ 29
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

चीन को गधे एक्‍सपोर्ट करेगा पाकिस्‍तान, एक अरब डॉलर का होगा निवेश

खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में गधों की आबादी बढ़ाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं क्योंकि दवाइयों सहित अन्य चीजों को बनाने में चीन में इस जानवर की खाल काफी कीमती है।

Author April 9, 2017 8:17 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पाकिस्तान की योजना अपने ‘गधा विकास कार्यक्रम’ में एक अरब डॉलर के निवेश के साथ पश्चिमोत्तर खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में चीनी निवेशकों को आकर्षित करने के लिए चीन को गधे बेचने की है। एक आधिकारिक दस्तावेज के मुताबिक प्रांत में गधों की आबादी बढ़ाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं क्योंकि दवाइयों सहित अन्य चीजों को बनाने में चीन में इस जानवर की खाल काफी कीमती है।

‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की खबर के मुताबिक ‘खैबर- पख्तूनख्वा – चीन सतत गधा विकास कार्यक्रम’ एक अरब डॉलर का है। यह उन कई निवेश कार्यक्रमों में शामिल है जिसे प्रांत ने 46 अरब डॉलर के महत्वाकांक्षी चीन-पाक आर्थिक गलियारा के तहत अपने कृषि क्षेत्र में चीनी निवेश आकर्षित करने के लिए बनाया है।

इसने कहा कि गधा निर्यात प्रस्ताव इस महीने चीन में दो दिवसीय रोड शो के दौरान निवेशकों को पेश किया जाएगा। दस्तावेजों के मुताबिक प्रस्तावित परियोजना का मकसद स्थानीय गधों के स्वास्थ्य और संख्या बेहतर कर गधा पालने वाले समुदायों की सामाजिक आर्थिक स्थिति बेहतर करना है। इसके मुताबिक नई टेक्नॉलजी पेश की जाएंगी और गधा पालने वालों की क्षमता निर्माण करने के लिए काम किया जाएगा। इसने कहा कि खैबर पख्तूनख्वा सरकार गधों की कीमतें बेहतर करने के लिए लिंकेज विकसित करेगी और इससे पालने वालों और इसके व्यापारियों की आय बढ़ाएगी। दस्तावेज के मुताबिक परियोजना को संयुक्त उद्यम के जरिए क्रियान्वित किया जा सकता है।

राहुल गांधी पर टिप्पणी करने के मामले में कांग्रेस विधायक निलंबित; कहा- ‘गधे को घोड़ा नहीं बता सकता’, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App