ताज़ा खबर
 

अफगान सरकार के साथ शांति वार्ता से तालिबान का इंकार, पाकिस्तान ने दी चेतावनी

तालिबान ने इस महीने की शुरुआत में पश्चिम समर्थित अफगान सरकार को सत्ता से बाहर करने के संकल्प के साथ ‘‘ऑपरेशन उमरी’’ की शुरुआत की घोषणा की थी।
Author इस्लामाबाद | April 18, 2016 23:02 pm
पाकिस्तान

अफगानिस्तान सरकार के साथ शांति प्रक्रिया में हिस्सा लेने से तालिबान के इंकार के बाद शर्मिंदगी के एहसास से भरे पाकिस्तान ने आतंकवादियों को हिंसक अभियान तेज करने की उनकी हालिया घोषणा को वापस लेने या परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहने को कहा है। तालिबान ने इस महीने की शुरुआत में पश्चिम समर्थित अफगान सरकार को सत्ता से बाहर करने के संकल्प के साथ ‘‘ऑपरेशन उमरी’’ की शुरुआत की घोषणा की थी। आतंकवादी समूह की इस घोषणा ने पाकिस्तान में कईयों को चौंका दिया है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने एक पाकिस्तानी अधिकारी के हवाले से कहा है कि तालिबान के इस कदम से क्वाड्रीलेटरल को-ऑर्डिनेशन ग्रुप (क्यूसीजी) की शांति की पहल पटरी से उतर जायेगी, जिसमें पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन और अमेरिका शामिल हैं। इसकी शुरुआत पिछले वर्ष दिसंबर में हुई थी।

क्यूसीजी का लक्ष्य विद्रोहियों और अफगानिस्तान की सरकार के बीच सीधी बातचीत है। अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान ने तालिबान से हिंसा छोड़ने और बातचीत करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि तालिबान नेतृत्व को स्पष्ट संदेश दे दिया गया है कि अगर वह शांति वार्ता में शामिल नहीं होता है तो उसे ‘‘भारी कीमत’’ चुकानी पड़ेगी।

यह स्पष्ट नहीं है कि हालिया चेतावनी कारगर साबित होगी या नहीं क्योंकि कुछ रिपोर्टों के अनुसार कई तालिबान नेता पहले ही पाकिस्तान छोड़ चुके हैं या किसी भी कार्रवाई से बचने की कोशिश में अफगानिस्तान लौटने की योजना बना रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.