ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट: ब्रह्मोस से बेहतर सुपरसॉनिक मिसाइल की ताक में है पाकिस्‍तान, चीन से खरीदेगा

एचडी-1 कहने के लिए तो एक वेपन सिस्टम है, पर यह अपने आप में कई चीजें समेटे हुए है। मसलन इसमें मिसाइल, लॉन्च, कमांड, कंट्रोल टार्गेट इंडिकेशन और सपोर्ट सिस्टम है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फाइल फोटोः एपी)

पाकिस्तान इस समय ब्रह्मोस से बेहतर सुपरसॉनिक मिसाइल खरीदने की ताक में है, जिसकी टेस्टिंग हाल ही में चीन में हुई है। यह खुलासा चीनी मीडिया की एक रिपोर्ट से हुआ है। ‘टैबलॉइड ग्लोबल टाइम्स’ के मुताबिक, मिसाइल का नाम एचडी-1 है। दावा है कि यह ब्रह्मोस से काफी ताकतवर है। साथ ही इसमें मिसाइल रोधी व्यवस्था को ध्वस्त करने की क्षमता भी है, लिहाजा पाकिस्तान इसे अपना बनाने की फिराक में है।

दक्षिणी चीन की ग्वांगडोंग होंगडा ब्लास्टिंग कंपनी ने इसे तैयार किया है। एचडी-1 कहने के लिए तो एक वेपन सिस्टम है, पर यह अपने आप में कई चीजें समेटे हुए है। मसलन इसमें मिसाइल, लॉन्च, कमांड, कंट्रोल टार्गेट इंडिकेशन और सपोर्ट सिस्टम है।

अक्टूबर की शुरुआत में इस मिसाइल की टेस्टिंग उत्तरी चीन में गुप्त जगह पर की गई है। रिपोर्ट में बीजिंग के मिलिट्री एनालिस्ट वेई दॉन्गजू के हवाले से कहा गया, “अपने प्रतिद्वंदियों की तुलना में एचडी-1 में कम ईंधन की खपत होती है। यह वजन में काफी हल्की भी है, जिसके कारण यह तेजी से उड़ान भर लेती है और दूर तक जाती है।”

बकौल वेई, “पाकिस्तान और मिडिल ईस्ट के देशों ने इस मिसाइल को लेकर अपनी रुचि दिखाई है।भारत और रूस द्वारा संयुक्त रूप से तैयार की गई ब्रह्मोस मिसाइल काफी महंगी है और क्रूज मिसाइल के तौर पर उसका कम ही इस्तेमाल हो पाता है।” आपको बता दें कि ‘करिअर किलर’ के नाम से मशहूर ब्रह्मोस दुनिया में सबसे तेज सुपरसॉनिक मिसाइल सिस्टम माना जाता है।

हालांकि, चीनी मीडिया की रिपोर्ट में एचडी-1 मिसाइल की रेंज के बारे में किसी प्रकार की जानकारी नहीं दी गई, जबकि इंडो-रशियन मिसाइल की रेंज लगभग 300 किमी होती है। वैसे वेई या फिर ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट में कहीं भी स्पष्ट नहीं किया गया कि कैसे एचडी-1 मिसाइल, ब्रह्मोस से बेहतर है। सरकार से अनुमति के बाद कंपनी इस मिसाइल की खरीद-फरोख्त चालू कर देगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App