ताज़ा खबर
 

चंदा लेना चाहते थे गांववाले, मिलने नहीं दिया तो पाकिस्तान में शिकार पर निकले कतर के शाही परिवार पर कर दिया हमला

साल 2015 में 100 हथियारबंद लोगों ने सऊदी बॉर्डर के पास ईरान के रेगिस्तान में शिकार कर रहे कतर के 26 लोगों को अगवा कर लिया था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पाकिस्तान में दुर्लभ पक्षी गोडावन (हौबरा बस्टर्ड) का शिकार करने आए कतर के शाही परिवार के काफिले पर रविवार को बंदूक और चाकूओं से लैस लोगों ने हमला कर दिया। सोमवार को अधिकारियों ने यह जानकारी दी। हालांकि शाही परिवार को तो इसमें कोई चोट नहं आई, लेकिन उनकी सुरक्षा में तैनात तीन सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं। पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। हौबरा बस्टर्ड का मांस अरब के शेखों को बहुत पसंद आता है। जानकारी के मुताबिक यह घटना दक्षिण-पश्चिम प्रांत बलूचिस्तान की है। पुलिस के मुताबिक स्थानीय ग्रामीण कतर के शाही परिवार से मिलकर मस्जिद निर्माण के लिए चंदा लेना चाहते थे। मुलाकात की अनुमति नहीं मिलने पर भीड़ हिंसक हो गई और हमला कर दिया।

कतर के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान सरकार को निर्धारित शुल्क देकर शिकार के लिए बाकायदा परमिट लिया जाता है। परमिट लेने वाले लोग स्थानीय समुदाय और वन्यजीव संरक्षण के लिए चंदा भी देते हैं। दुनिया में इस पक्षी की संख्या महज 50 हजार से एक लाख तक ही बची है। अरब में तो यह दुर्लभ पक्षी लगभग खत्म ही हो चुका है। पिछले साल सरकार से पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया था कि इस पक्षी के शिकार पर लगे प्रतिबंध को हटाया जाए, क्योंकि इससे खाड़ी देशों के साथ रिश्तों में खटास आ रही है। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने प्रतिबंध हटा लिया था।

जिनकी जमीनों पर अरब शेख शिकार करते हैं, उनसे बेहतर संबंध बनाने के एवज में उन्होंने बलूचिस्तान में गांववालों के लिए सड़कें, स्कूल और मस्जिदें बनवाई हैं। इससे गांववालों का भी काफी विकास हुआ है। इसके अलावा शिकार के लिए लाए गए वाहनों को कई बार स्थानीय नेताओं के लिए बतौर तोहफा वहीं छोड़ दिया जाता है। आपको बता दें कि साल 2015 में 100 हथियारबंद लोगों ने सऊदी बॉर्डर के पास ईरान के रेगिस्तान में शिकार कर रहे 26 कतर के लोगों को अगवा कर लिया था। कतर के शाही परिवार के एक सदस्य को अप्रैल 2016 में रिहा किया गया था, जिसके साथ एक पाकिस्तानी आदमी भी था।

पाकिस्तान ने रिहा किए 220 भारतीय मछुआरे, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App