ताज़ा खबर
 

दाऊद के खास गुर्गे जाबिर मोतीवाला के प्रत्यर्पण की राह में रोड़ा अटका रहा पाकिस्तान!

बता दें कि मोतीवाला पर धनशोधन, ड्रग तस्करी और अंडरवर्ल्ड के अपराध के आरोप है।दाऊद इब्राहिम के खास माने जाने वाले जाबिर मोतीवाला को 2018 में लंदन में धनशोधन और ड्रग तस्करी के आरोपों में एफबीआई की सूचना पर हिरासत में लिया गया था।

Author नई दिल्ली | July 2, 2019 2:27 PM
दाऊद इब्राहिम (फोटो- पीटीआई)

मोस्ट वांटेड आतंकी दाऊद इब्राहिम के खास गुर्गे जाबिर मोतीवाला को बचाने के लिए पाकिस्तान पूरी जोर आजमाइश कर रहा है। पाकिस्तान को डर है कि कहीं पूरी दुनिया के सामने उसकी पोल ना खुल जाए। लंदन स्थित पाकिस्तानी राजनयिक दाऊद के खास गुर्गे जाबिर मोतीवाला के अमेरिक में प्रत्यर्पण में रोड़ा डाल रहा है। वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में प्रत्यर्पण की याचिका पर सुनवाई के दौरान पकिस्तानी राजनयिकों की तरफ से दलील दी गई कि मोतीवाला गंभीर अवसाद से ग्रस्त है और वह अमेरिका जा पाने की स्थिति में नहीं है। दलील में यह भी कहा गया है कि वह कई बार आत्महत्या का प्रयास कर चुका है।

बता दें कि मोतीवाला पर धनशोधन, ड्रग तस्करी और अंडरवर्ल्ड के अपराध के आरोप है।दाऊद इब्राहिम के खास माने जाने वाले जाबिर मोतीवाला को 2018 में लंदन में धनशोधन और ड्रग तस्करी के आरोपों में एफबीआई की सूचना पर हिरासत में लिया गया था। यही नहीं पाकिस्तान ने उसे बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है। भारतीय एजेंसियों के सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार अदालत में पाकिस्तानी राजनियकों ने मोतीवाला को पाकिस्तान का एक प्रसिद्ध और सम्मानित कारोबारी बताया है।

पाकिस्तान को इस बात का डर सता रहा है कि अगर मोतीवाला को अमेरिका प्रत्यर्पित कर दिया जाता है तो पाकिस्तान के सारे राज खुल जाएंगे। उसके प्रत्यर्पण से अंडरवर्ल्ड नेटवर्क और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसिस इंटेलिजेंस की साठगांठ का भी खुलासा हो जाएगा। पाकिस्तान की एक मुश्किल यह भी है कि अमेरिका ने दाऊद इब्राहिम को पहले ही एक वैश्विक आतंकवादी घोषित कर चुका है।

सूत्रों कि मानें तो स्कॉटलैंड यार्ड की प्रत्यर्पण इकाई ने धनशोधन और डी-कंपनी के हवाले से कमाए गए नारकोटिक्स धन को साझा करने के आरोपों में गिरफ्तार किया था। जिसके बाद दाऊद के खास को लंदन में मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया।अमेरिकी सरकार की तरफ से पेश हुए बैरिस्टर जॉन हार्डी ने अदालत को बताया कि मोतीवाला दाऊद के लिए काम करता है और दाऊद के लिए अंडरवर्ल्ड से जुड़ी गतिविधियों को लिए मीटिंग में शामिल होता है। वह ड्रग्स ट्रैफिकिंग में शामिल है और डी कंपनी के नाम पर यूरोप में भी उगाही करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App