ताज़ा खबर
 

अमेरिकी इंटेलिजेंस का दावा- भारत के बढ़ते रुतबे से पाकिस्तान परेशान, आतंकियों के निशाने पर भारत और अफगानिस्तान

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग पड़ चुका पाकिस्तान चीन से अच्छे संबंध कायम करने की कोशिश में है ताकि हिंद महासागर में अपना दबदबा बढ़ा सके।

अफगान तालिबान के आतंकी। (चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।)

पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों से भारत और आफगानिस्तान की सुरक्षा को खतरा है। यह दावा किया है अमेरिका के इंटेलिजेन्स एजंसी के चीफ ने। नेशनल इंटेलिजेन्स के डायरेक्टर डैनियल कोट्स ने यह दावा किया है। अमेरिका में सीनेट सिलेक्ट कमिटी के बैठक में उन्होंने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा- “पाकिस्तान अपने यहां पर आतंकियों-मिलिटेंस को खत्म करने में नाकाम रहा है।” कोट्स ने आगे कहा- “ये आतंकि संगठन भारत और अफगानिस्तान पर लगातार हमले करेंगे और ये अमेरिका के लिए खतरा बने रहेंगे।” कोट्स ने यह भी कहा कि अपने आइसोलेशन और भारत के बढ़ते अंतरराष्ट्रीय कद को लेकर पाकिस्तान चिंता में है। हाल ही में भारत के अमेरिका के साथ गहरे और अच्छे संबंध बने हैं, जिसको लेकर पाकिस्तान खासा चिंता में है। उन्होंने आगे कहा- “अपने आइसोलेशन की स्थिति से निपटने के लिए पाकिस्तान चीन का रुख करेगा।”

कांग्रेस की यह बैठक दुनियाभर के आतंकि खतरों के मुद्दे पर हुई थी। इंटेलिजेंस एंजसी डायरेक्टर कोट्स ने यह आकलन भी किया है कि 2018 तक अफगानिस्तान में राजनीतिक और सुरक्षा की स्थिति का बिगड़ना तय है। साथ ही डैनियल ने यह जानकारी भी दी कि अफगानिस्तान जब तक तालिबान के साथ किसी शांति प्रस्ताव पर नहीं पहुंच जाता तब तक वह संघर्ष करता रहेगा। इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि अफगानिस्तान को विदेशी मदद की भी तक तक जरूरत पड़ती रहेगी जब तक वहां पर शांति बहाल नहीं हो जाती।

वहीं आखिर में डैनियल कोट्स ने चौकाने वाला दावा किया। उन्होंने बताया कि हमारे आकलन के मुताबिक अफगानिस्तान में तालिबान की स्थिकि मजबूत होगी और खासकर उसकी ताकत ग्रामीण इलाकों में बढ़ेगी। साथ ही अफगान सुरक्षा बलों के लिए कड़ी मुश्किलें पैदा हो जाएंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App