Pakistan Terror Attack: terrorists attack Agriculture Directorate in Peshawar, 4 injured - पाकिस्तान: पेशावर में आतंकियों ने बरसाईं गोलियां, 9 लोगों की मौत, 37 घायल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान: पेशावर में आतंकियों ने बरसाईं गोलियां, 11 लोगों की मौत, 37 घायल

पाकिस्तानी वेबसाइट द डॉन ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया है कि आतंकियों की संख्या 3 थी।

आतंकी हमले के बाद मोर्चा संभालते हुए पाकिस्तानी सुरक्षा बल। (Source: Geo News, File Photo)

पाकिस्तान के पेशावर में हुए आतंकी हमले में 11 लोगों की मौत होने की आशंका है। रिपोर्ट्स के मुताबिक मृतकों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है और 37 लोग घायल हो गए। यह हमला पेशावर स्थित डायरेक्टोरेट ऑफ एग्रीकल्चर एक्सटेंशन की इमारत पर शुक्रवार को हुआ था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि करीब एक घंटे तक चली मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने सभी आतंकवादियों को मार गिराया। अभियान के दौरान परिसर के अंदर से लगातार गोलियों और धमाकों की आवाज आ रही थी। अधिकारियों ने आतंकवादियों के कब्जे से आत्मघाती जैकेट, दो एके राइफलें, पिस्टल और विस्फोटक बरामद किया गया। खबरों के मुताबिक इस हमले में एक मीडियाकर्मी, और तीन पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए हैं।

द डॉन ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया कि आतंकियों की संख्या 4 थी। जब वे इमारत में दाखिल हुए तो उनके मुंह ढके हुए थे। इसके बाद उन्होंने गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। हमले की खबर मिलने के बाद पुलिस और सेना मौके पर पहुंची। सुरक्षाबलों ने इलाके को खाली कराके आतंकियों के खात्मे की मुहिम शुरू कर दी थी। सुरक्षा बलों का ऑपरेशन अब खत्म हो चुका है। खबरों के मुताबिक, तहरीके तालिबान, पाकिस्तान ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है।

सूत्रों के मुताबिक, परिसर के अंदर एक स्टूडेंट्स हॉस्टल भी है जिसमें करीब 100 छात्र रहते हैं। हालांकि खैबर पख्तूनख्वा के महानिरीक्षक सलाहुद्दीन खान महसूद ने बताया कि गनीमत रही कि छुट्टियों की वजह से संस्थान में ज्यादा छात्र मौजूद नहीं थे। जहां यह हमला हुआ, वह यूनिवर्सिटी रोड पर स्थित है, जो काफी व्यस्त इलाका माना जाता है। हमले के बाद इस रास्ते पर ट्रैफिक की आवाजाही रोक दी गई थी। घायलों को खैबर टीचिंग हॉस्पिटल पहुंचाया गया है। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि हमला सुबह सवा 8 बजे के करीब हुआ था। हमले में 2 जवानों के भी घायल होने की खबर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App