ताज़ा खबर
 

हेलीकॉप्टर चालक दल तालिबान के कब्जे में, पाकिस्तान ने मांगी अमेरिका-अफगानिस्तान की मदद

चालक दल के सदस्यों को तालिबान ने बंदी बनाया हुआ है।
Author इस्लामाबाद | August 5, 2016 20:34 pm
अफगान तालिबान के आतंकी। (चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।)

अफगनिस्तान के तालिबानी कब्जे वाले क्षेत्र में आपात स्थिति में उतरने वाले हेलीकॉप्टर के चालक दल के सदस्यों की सुरक्षित वापसी के लिए पाकिस्तान ने शुक्रवार (5 अगस्त) को अमेरिका और अफगान सरकार से मदद मांगी है। चालक दल के सदस्यों को तालिबान ने बंदी बनाया हुआ है। पंजाब की प्रांतीय सरकार का एमआई-17 हेलीकॉप्टर अपनी मरम्मत के लिए रूस की ओर जा रहा था। रास्ते में गुरुवार (4 अगस्त) को उसे अफगानिस्तान के लोगर प्रांत में आपात स्थिति में उतरना पड़ा। इस प्रांत के ज्यादातर क्षेत्र पर तालिबान का नियंत्रण है।

पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता ने कहा कि सेना प्रमुख राहील शरीफ ने अफगानिस्तान में अमेरिका और नाटो बलों के शीर्ष कमांडर जनरल जॉन निकोलसन और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी से फोन पर बात कर चालक दल की सुरक्षित वापसी में मदद मांगी है। उन्होंने कहा, ‘जनरल निकोलसन ने इस संबंध में हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है।’ सेना ने कहा कि राष्ट्रपति गनी ने चालक दल के सदस्यों का पता लगाने और उन्हें वापस लाने में मदद करने का वादा किया है।

अफगान रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता दौलत वजीरी ने काबुल में एक बयान जारी कर कहा कि उनके देश ने ‘सुरक्षा बलों को आदेश दिया है कि वे उक्त हेलीकॉप्टर के चालक दल के सदस्यों को बचाने के लिए जिनती जरूरत हो उतनी ताकत लगाएं।’अफगान तालिबान सूत्रों का कहना है कि एक रूसी नागरिक सहित सात सदस्यीय चालक दल उनकी हिरासत में है और उनकी वापसी पर केन्द्रीय नेतृत्व फैसला करेगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि संघ सरकार अफगानिस्तान में संबंधित अधिकारियों के संपर्क में है और सदस्यों को वापस लाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App