ताज़ा खबर
 

भारत से बात करने के लिए पाकिस्तान तैयार : जकारिया

विदेश कार्यालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा कि पाकिस्तान और भारत दो पड़ोसी है जिन्हें शांति और सौहार्द से रहना होगा।

Author इस्लामाबाद | April 22, 2016 1:54 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पाकिस्तान ने गुरुवार रात कहा कि भारत जब भी तैयार होगा वह उससे बात करने के लिए तैयार है। शांति प्रक्रिया बहाल किए जाने के बारे में पूछने पर विदेश कार्यालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा, भारत जब तैयार होगा पाकिस्तान वार्ता के लिए तैयार रहेगा। यहां एक साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, यह सवाल बार-बार पूछा जाता है और मैं इस बहस में नहीं पड़ना चाहता कि दोनों पक्षों ने क्या शब्द इस्तेमाल किए। एक अन्य सवाल पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और भारत दो पड़ोसी है जिन्हें शांति और सौहार्द से रहना होगा। पठानकोट आतंकी हमले की जांच के बारे में उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग भारत का दौरा करने वाली जेआइटी के तथ्यों पर गौर कर रहा है और एक बार जांच पूरी हो जाने और रिपोर्ट तैयार होने पर हम साझायोग्य सूचना आपके साथ बांटेंगे।

भारतीय एनआइए टीम के पाकिस्तान दौरे पर उन्होंने कहा, मैं इस संबंध में किसी आधिकारिक अनुरोध से अवगत नहीं हूं। भारत के पनडुब्बी प्रक्षेपित बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण के बारे में टिप्पणी करते हुए जकारिया ने कहा कि परमाणु पनडुब्बी बेड़े का विकास क्षेत्र के नाजुक रणनीतिक संतुलन पर असर डालेगा। कश्मीर पर जकारिया ने कहा कि पाकिस्तान ने सभी मंचों पर कश्मीरियों के कथित मानवाधिकारों के उल्लंघन को रेखांकित किया है। उन्होंने कहा कि कथित ‘भारतीय एजंट कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी ने पाकिस्तान के लंबे समय से रखे जा रहे रुख की पुष्टि की है कि देश में आतंकवादी घटनाओं में भारत का हाथ है। उन्होंने यह भी दावा किया कि यादव के इकबालिया बयान के आधार पर उसकी गिरफ्तारी हुई। हालांकि उन्होंने गिरफ्तारी का विवरण साझा करने से इन्कार कर दिया।

वर्ष 2007 में समझौता एक्सप्रेस विस्फोट की साजिश रचने और इसे अंजाम देने के आरोप में गिरफ्तार कर्नल पुरोहित पर बयान के लिए पूछने पर उन्होंने कहा कि ट्रेन पर हमले के मास्टरमाइंड स्वामी असीमानंद ने सार्वजनिक रूप से पुरोहित और अन्य अधिकारियों का नाम लिया। उन्होंने कहा, हम मीडिया की खबरों में नहीं जा रहे। समझौता एक्सप्रेस आतंकी हमले के जांच विवरण साझा करने के लिए हमारा अनुरोध भारत सरकार के पास लंबित है। वादों के बावजूद जांच को साझा नहीं किया गया। देखते हैं इस घटना के बारे में जांच नतीजों के बारे में हमें कब बताया जाता है, जिसमें कई बेकसूर पाकिस्तानियों की जान चली गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App