ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानः महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति संग तोड़फोड़, हमलावर बोले- प्रतिमा हटाए प्रशासन, वरना फिर करेंगे क्षतिग्रस्त

बकौल एसपी, "आरोपियों का मानना है कि मुस्लिम देश में इस तरह की मूर्तियां होना उनके धर्म के खिलाफ है और अगर स्थानीय प्रशासन इन प्रतिमाओं को नहीं हटाएगा, तो भविष्य में इस तरह की और घटनाएं होंगी।"

Author नई दिल्ली | August 13, 2019 9:38 PM
पंजाब के शासक महाराजा रणजीत सिंह। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के लाहौर में पंजाब के शासक और महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ का मामला सामने आया है। आरोप है कि शाही किला स्थित सिंह की समाधि के नजदीक बनी उनकी प्रतिमा को दो लोगों ने आकर क्षतिग्रस्त कर दिया था। घटना बीते शनिवार की है, जब किला रोज की तरह आम सैलानियों और दर्शकों के लिए खोला गया था। ‘डॉन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, दो लोग किले में तब पैर से दिव्यांग होने का दिखावा कर के लड़की के डंडे लेकर वहां घुसे थे।

प्रवेश के बाद वे सीधे महाराजा की प्रतिमा के पास पहुंचे और डंडों से उस पर ताबड़तोड़ वार करने लगे। यही वजह रही कि कुछ ही पलों में सिंह की मूर्ति के हाथ और अन्य हिस्से टूट गए। जानकारी के बाद आनन-फानन में सुरक्षाकर्मी मौके पर पहुंचे, जिन्होंने हमलावरों को धर दबोचा। आरोपी उस दौरान पंजाब के पूर्व शासक के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे।

हालांकि, बाद में इन हमलावरों को सुरक्षाकर्मियों ने पुलिस के हवाले कर दिया। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया कि पुलिस ने दोनों के खिलाफ वॉल्ड सिटी अथॉरिटी की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है।

एसपी सैयद गजनफर ने पाकिस्तानी अखबार को बताया कि हमावरों को किसी ने धार्मिक आधार को लेकर उकसाया था, जिसके बाद उन्होंने प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की। उनके मुताबिक, जांच में पता लगा कि हमलावर खुद क सुल्तान महमूद गजनवी के अवतार बता रहे थे, जो कि दक्षिण एशियाई इतिहास का जाना-माना योद्धा था।

बकौल एसपी, “आरोपियों का मानना है कि मुस्लिम देश में इस तरह की मूर्तियां होना उनके धर्म के खिलाफ है और अगर स्थानीय प्रशासन इन प्रतिमाओं को नहीं हटाएगा, तो भविष्य में इस तरह की और घटनाएं होंगी।”

बता दें कि लाहौर किला स्थित रणजीत सिंह की इस प्रतिमा का अनावरण बीते 27 जून को पड़ी उस योद्धा की 180वीं पुण्यतिथी के मौके पर किया गया था। नौ फुट ऊंची प्रतिमा में महाराजा रणजीत सिंह सिखों वाले अपने लिबास में थे। घोड़े पर सवार उनकी मूर्ति के हाथ में तलवार भी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भारतीय राजदूत ने कहा, ट्रंप साफ कर चुके हैं कि कश्मीर पर मध्यस्थता का प्रस्ताव अब विचाराधीन नहीं
2 ट्रेन में हिंदी बोलने पर गालियां देने लगी लड़की, फिर इस कंडक्टर ने जो किया उसकी हो रही जमकर तारीफ
3 केन्याः असेंबली में सदस्य के पाद से हाहाकार, रोकनी पड़ गई कार्यवाही