ताज़ा खबर
 

नवाज शरीफ ने यूएन चीफ के सामने रोया कश्‍मीर का रोना, की झूठी शिकायत, सबूत के नाम पर सौंपा झूठ का पुलिंदा

नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र आम सभा में अपने संबोधन में मृत कश्मीरी आतंकी बुरहान वानी को 'युवा नेता' बताया था।
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र से इतर संरा प्रमुख से मुलाकात करते पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़। (एपी फोटो/21 सितंबर, 2016)

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार (21 सितंबर) को संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून से को कश्मीर में हो रहे कथित मानवाधिकार हनन से जुड़े सुबूत इत्यादि का डोजियर सौंपा। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार पाकिस्तानी पीएम ने मून को कश्मीर में भारतीय सेना द्वारा किए मानवाधिकार के बारे में मौखिक जानकारी भी दी। शरीफ ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र आम सभा (जीपीसीए) में अपने संबोधन में भारत पर कश्मीर में मानवाधिकार हनने के आरोप लगाए थे। शरीफ ने अपने संबोधन में कहा था कि वो संयुक्त राष्ट्र महासचिव को इस पर डोजियर भी सौंपेंगे।पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार शरीफ ने जो डोजियर सौंपा में उसमें कर्फ्यू, नेताओं की नजरबंदी, गिरफ्तारी, चिकित्सा सुविधा के अभाव इत्यादि के तस्वीरें शामिल थीं। पाक मीडिया के अनुसार शरीफ ने पैलेट गन से घायल हुए लोगों की तस्वीरें भी महासचिव को सौंपी। पाक पीएम ने महासचिव मून से मांग की है कि संंयुक्त राष्ट्र संघ कश्मीर में एक फैक्ट फाइंडिंग टीम भेजे जो हालात की जांच कर सके।

71वीं संयुक्त राष्ट्र आम सभा में अपने संबोधन में शरीफ ने कश्मीर के मारे गए आतंकवादी बुरहान वानी को “प्रतिरोध का चेहरा” और “युवा नेता” बताया। शरीफ के बयान की भारत ने कड़े शब्दों में निंदा की। हिज्बुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी 8 जुलाई को मुठभेड़ में मारा गया था। शरीफ के बयान पर पलटवार करते हुए भारतीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन के आतंकी को संयुक्त राष्ट्र आम सभा में “महिमामंडित” करके नवाज शरीफ ने साबित कर दिया है कि पाकिस्तान आतंकवाद का समर्थन करता है।

शरीफ के संबोधन के बाद संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई मिशन की फर्स्ट सेक्रेटरी ईनाम गंभीर ने शरीफ के भाषण के बाद “राइट ऑफ रिप्लाई” का प्रयोग करते हुए कहा, “मानवाधिकारों का सबसे निकृष्ट हनन आतंकवाद है और जब इसका इसका राष्ट्र नीति की तरह इस्तेमाल किया जाना युद्ध अपराध है। मेरा देश और हमारे पड़ोसी देश आज जो झेल रहे हैं वो पाकिस्तानी की आतंकवाद को प्रायोजित करने की लंबी रणनीति का परिणाम है, जो अब हमारे इलाके से बाहर भी फैल गया है।”

Read Also: ‘नवाज शरीफ द्वारा आतंकी बुरहान वानी के महिमामंडन से पता चलता है पाकिस्तान का आतंकवाद से जुड़ाव’

गंभीर ने शरीफ के संबोधन का जवाब देते हुए कहा कि “पाकिस्तान कट्टरवादी गुटों को समर्थन देता है, अल्पसंख्यकों और महिलाओं के बुनियादी मानवाधिकारों का हनन करता है।” गंभीर ने अपने जवाब में अमेरिका के हुए वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर 2001 में हुए आतंकी हमले का भी जिक्र किया। गंभीर ने कहा, “हमें नहीं भूलना चाहिए कि खौफनाक आतंकी हमले 9/11 के तार भी पाकिस्तान के एबोटाबाद से जुड़े थे जहां अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन रहता था और अमरेकी सैनिकों के हाथों मारा गया था।”

Read Also: शशि थरूर बोले- मोदी की अगवानी करने वाला कर रहा आतंकी की तारीफ, नवाज शरीफ से बात करना बेकार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.