ताज़ा खबर
 

मुसलमान व‍िरोधी पार्टी है नरेंद्र मोदी की सत्‍ताधारी बीजेपी- इमरान खान की राय

'भारत ने उनके द्वारा दिए गए शांति वार्ता के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। केंद्र में बैठी बीजेपी सरकार ने देश में होने वाले लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर ऐसा किया'। इमरान ने उम्मीद जताई कि 2019 चुनाव के बाद भारत से बात हो सकेगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स : Express Group Photo)

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने एक बार फिर भारत पर आरोप लगाया है। पाक पीएम इमरान खान ने केंद्र की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर हमला किया है। इमरान खान ने भाजपा को एंटी मुस्लिम और एंटी पाकिस्तान करार दिया है। उन्होंने कहा कि, सत्ता संभाल सही बीजेपी मुस्लिमों और पाकिस्तान के खिलाफ है। इमरान खान ने यह बाते एक इंटरव्यू में कहीं।

साक्षात्कार के दौरान कहा कि, ‘भारत ने उनके द्वारा दिए गए शांति वार्ता के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। केंद्र में बैठी बीजेपी सरकार ने देश में होने वाले लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर ऐसा किया’। उन्होंने उम्मीद जताई कि 2019 चुनाव के बाद भारत से बात हो सकेगी। वाशिंगटन पोस्ट की खबर के मुताबिक, ‘पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 2008 में हुए मुम्बई हमलों पर भी बात की। उन्होंने कहा, वह खुद चाहते है कि धमाकों को अंजाम देने वालों को लेकर कुछ कर सकें’।

उन्होंने कहा, ‘मैंने अपनी सरकार से मुम्बई धमाकों के केस का स्टेटस पता करने को कहा है। यह केस हमारी प्राथमिकता में है क्योंकि यह एक आतंकी वारदात है’। इमरान खान ने अगस्त में ही प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।

पाकिस्तान ने इसी साल सितंबर में भी न्यूयाॉर्क में विदेश मंत्री स्तर की बातचीत करने का प्रस्ताव भेजा था। हालांकि भारत ने पहले इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया लेकिन 24 घंटे में मीटिंग कैंसिल कर दी। इसके पीछे भारत ने जम्मू कश्मीर में सैनिकों को मारने का कारण दिया था।

भारत के इस रवैये के बाद इमरान खान ने नाराजगी जाहिर की थी। इमरान खान ने भारत को घमंडी बताया था। इमरान खान ने ट्वीट किया था कि, शांति के प्रस्ताव पर भारत सरकार के निगेटिव रिस्पोंस से निराश हूं। भारत ने घमंडीपन दिखाया है। साथ ही इमरान ने करतापुर कॉरिडोर का भी जिक्र किया। इमरान खान ने उम्मीद जताई कि बहुप्रतीक्षित करतापुर कॉरिडोर खुलने के बाद दोनों के बीच शांति वार्ता हो सकेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App