ताज़ा खबर
 

छलका पाकिस्‍तानी नेता का दर्द- हिंदुस्‍तान जी-20 में जाता है तो मेरे दिल को तीर लगते हैं

शहबाज शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था चौपट होने के कगार पर है, यहां का शेयर बाजार नीचे जा रहा है। उन्होंने कहा, "हमारे यहां का विदेशी मुद्रा भंडार से हम एक महीने के लिए ही आयात कर सकते हैं, हमारे निवेशक लंदन और दुबई चले गये हैं, उन्हें ये सोचकर हैरानी हो रही है कि 25 जुलाई को क्या होगा।

PML-N के अध्यक्ष और नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई शहबाज शरीफ ने कहा है कि जब वो पीएम नरेंद्र मोदी को जी-20 जैसे समूहों में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए देखते हैं तो उनके दिल को तीर चुभता है। शहबाज शरीफ ने कहा पाकिस्तान को भ्रष्टाचार का मुकाबला करने में भारत के नक्शेकदम पर चलना चाहिए। शहबाज शरीफ ने देश की न्यायपालिका, आर्मी और राजनीतिक व्यवस्था पर अपना गुस्सा निकालते हुए कहा, “आज हिन्दुस्तान जी-20 में जाता है तो मेरे दिल को तीर लगते हैं कि मोदी वहां जाके खड़ा होता है और हम तमाशा देख रहे होते हैं, चलिए इस मौके को इकबाल का पाकिस्तान बनाने में तब्दील करें, यह सिर्फ निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव से ही संभव है।”

लाहौर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए शहबाज शरीफ ने कहा कि भारत में पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव और पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के खिलाफ भी करप्शन के मामले में मुकदमे चलाए गये, लेकिन इसके उलट पाकिस्तान में जिन्होंने अरबों का घोटाला किया है आज वे उपदेश दे रहे हैं और चुनाव लड़ रहे हैं। बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव के लिए मतदान है। इससे पहले वहां की जवाबदेही अदालत ने पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज शरीफ को करप्शन के केस में जेल की सजा सुनाई है। इस लिहाज से पीएमएल-एन के लिए ये चुनाव उनके वजूद का सवाल बन गया है।

नवाज शरीफ और मरियम इस वक्त लंदन में है। इन दोनों के 13 जुलाई को पाकिस्तान आने की रिपोर्ट है। शहबाज शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था चौपट होने के कगार पर है, यहां का शेयर बाजार नीचे जा रहा है। उन्होंने कहा, “हमारे यहां का विदेशी मुद्रा भंडार से हम एक महीने के लिए ही आयात कर सकते हैं, हमारे निवेशक लंदन और दुबई चले गये हैं, उन्हें ये सोचकर हैरानी हो रही है कि 25 जुलाई को क्या होगा। बता दें कि इस वक्त पाकिस्तान में राजनीतिक अस्थिरता का दौर है। शुक्रवार को नवाज की पाकिस्तान वापसी के बाद वहां की राजनीति में बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान आते ही नवाज शरीफ को गिरफ्तार किया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App