ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान पीपुल्‍स पार्टी ने लालू का उदाहरण देकर उड़ाया इमरान खान का मजाक

शाह ने आगे कहा कि वो इमरान खान के ऐसे गैर जिम्मेदाराना व्यवहार को स्वीकार नहीं करते क्योंकि वह पाकिस्तान के संस्थापक कायद-ए-आजम मोहम्मद अली जिन्ना को अपना आदर्श मानते हैं।

पीटीआई प्रमुख और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Photo: AP)

पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री बनने और अपने पहले भाषण के बाद इमरान खान विपक्षी पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के निशाने पर आ गए हैं। पीपीपी लीडर खुर्शीद शाह ने बीते रविवार (19 अगस्त, 2018) को कहा कि इमरान खान का भाषण प्रधानमंत्री के कद के बराबर नहीं था। उन्होंने कहा, ‘प्रत्यक्ष तौर पर इमरान खान के भाषण से लगता है कि भारत के लालू प्रसाद यादव उनके राजनीतिक सलाहकार हैं।’ शाह ने आगे कहा कि वो इमरान खान के ऐसे गैर जिम्मेदाराना व्यवहार को स्वीकार नहीं करते क्योंकि वह पाकिस्तान के संस्थापक कायद-ए-आजम मोहम्मद अली जिन्ना को अपना आदर्श मानते हैं। दरअसल नेशनल असेंबली में तहरीक-ए-इंसाफ प्रमुख जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चुन लिए गए तब विपक्षी नेता सदन में हंगामा करने लगे। इस दौरान जब इमरान बोल रहे थे तब उन्होंने कई बार अपनी आवाज सख्त लहजे में उठाई। इसपर पीपीपी लीडर ने कहा कि हमें क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान इस गैरजिम्मेदाराना बर्ताव की उम्मीद नहीं थी। उन्होंने कहा, ‘अगर यही नया पाकिस्तान है तो अल्लाह ही हमपर रहम कर सकते हैं।’

बता दें कि 25 जुलाई पाकिस्तान में हुए चुनाव में 116 सीटों के साथ इमरान खान की पीटीआई सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। बीते शुक्रवार को उन्हें नेशनल असेंबली में प्रधानमंत्री के रूप में चुन लिया गया। उन्होंने पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के शाहबाज शरीफ को बड़े अंतर से हराया। सदन में इमरान के पक्ष में 176 वोट पड़े। जबकि शाहबाज शरीफ 96 मत ही प्राप्त कर सके। वहीं 65 वर्षीय इमरान खान ने पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनन के बाद कहा कि वो मुल्क में बदलाव लेकर आएंगे। जिसका इंतजार देश पिछले सत्तर सालों से कर रहा था।

उन्होंने यह भी कहा कि उन लोगों की पहचान की जाएगी जिन्होंने देश को लूटा। पीएम इमरान ने कहा, ‘जो लोग देश से पैसा चुराकर विदेश ले गए। उन्हें जवाबदेही के लिए पाकिस्तान वापस लाऊंगा।’ इमरान खान को 18 अगस्त को पाकिस्तान का 22वां प्रधानमंत्री चुना गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App