ताज़ा खबर
 

‘बाजवा के पैर कांप रहे थे, विदेश मंत्री कह रहे थे कि भारत 9 बजे करेगा हमला’, पाकिस्तानी MP ने संसद में बताया अभिनंदन के पकड़े जाने के बाद हुई बैठक का हाल

पिछले साल फरवरी में दोनों देशों की वायुसेना के बीच हुए टकराव में फाइटर पायलट अभिनंदन का विमान तबाह हो गया था और उसे पाकिस्तानी सेना द्वारा पकड़ लिया गया था।

Attari-Wagah Border, Pakistan, Abhinandan Varthmanपाकिस्तान ने अभिनंदन वर्तमान को वाघा-अटारी बॉर्डर के रास्ते भारत को सौंप दिया था। (फाइल फोटो)

भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले साल फाइटर पायलट अभिनंदन वर्तमान के पकड़े जाने के बाद तनाव अपने चरम पर था। भारत में कई विशेषज्ञों ने पाक पर सीधे हमले की संभावना तक जता दी थी। हालांकि, इमरान सरकार के अभिनंदन को छोड़ने के फैसले के बाद यह टकराव कुछ हद तक कम हुआ था। अब पाकिस्तानी संसद में विपक्षी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के नेता अयाज सादिक ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने अभिनंदन के पकड़े जाने के बाद हुई कुछ बैठकों का जिक्र करते हुए बताया है कि पाकिस्तान के आर्मी चीफ जब संसदीय नेताओं से अभिनंदन के मुद्दे पर बात करने आए, तो उनके पैर कांप रहे थे। सादिक ने कहा कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी तो भारत की तरफ से हमले के डर में थे।

सादिक ने विपक्षी नेताओं को बताया, “चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल बाजवा जब अभिनंदन पर बात करने के लिए संसद के नेताओं के सामने तशरीफ लाए तो उनके पैर कांप रहे थे। पसीना माथे पर था। हमसे विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि खुदा का वास्ता है कि इसे (अभिनंदन को) जाने दें, क्योंकि हिंदुस्तान 9 बजे रात को पाकिस्तान पर अटैक कर रहा है।”

पाकिस्तान न्यूज चैनल- दुनिया न्यूज ने सादिक के हवाले से कहा कि उस वक्त विपक्ष ने अभिनंदन को छोड़ने के सरकार के फैसले का समर्थन किया था, लेकिन अब वे आगे वे इमरान सरकार का समर्थन नहीं कर पाएंगे।

क्यों भड़का था भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव?: फरवरी 2019 में पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक को अंजाम दिया था। इसके बाद पाकिस्तान ने 27 फरवरी को जवाबी कार्रवाई की कोशिश की। हालांकि, भारतीय फाइटर जेट्स के पलटवार के बाद उसे भागने को मजबूर होना पड़ा। इस दौरान मिग-21 से पाकिस्तान के एफ-16 का पीछा कर रहे अभिनंदन वर्तमान का विमान दुश्मन सेना के हमले की जद में आ गया था और भारतीय फाइटर पायलट को पाकिस्तानी सैनिकों ने पकड़ लिया था।

अभिनंदन को दो दिन तक गिरफ्त में रखने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने खुद संसद को बताया था कि उनकी सरकार भारतीय वायुसैनिक को लौटाने जा रही है। अभिनंदन को 1 मार्च 2019 को अटारी-वाघा बॉर्डर से भारत भेजा गया था। बाद में अभिनंदन को बहादुरी के लिए स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति ने वीर चक्र देकर सम्मानित किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जम्मू-कश्मीर पर सऊदी अरब और ईरान ने दिया पाकिस्तान को करारा झटका
2 दवा कंपनी Pfizer ने इसी साल किया कोरोना वैक्सीन लाने का दावा, आएंगी 4 करोड़ डोज
3 भारतीय मछुआरों पर श्रीलंकाई नौसेना का हमला, एक जख्मी
आज का राशिफल
X