ताज़ा खबर
 

वार्ता के लिए 23 अगस्त को दिल्ली आएंगे सरताज अजीज

राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेशी मामलों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाली पहली एनएसए- स्तर की वार्ता के लिए 23 अगस्त को भारत आएंगे।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज आगामी 23 अगस्त को नई दिल्ली में अपने भारतीय समकक्ष अजीत डोभाल से मुलाकात करेंगे और पहली बार आतंकवाद से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करेंगे। इस्लामाबाद ने इस प्रस्तावित बातचीत को गतिरोध समाप्त करने की दिशा में एक कदम करार दिया है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) स्तर की बातचीत को लेकर पाकिस्तान की ओर से पहल उस समय की गई है जब पंजाब और जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हमले और संघर्षविराम उल्लंघन की घटनाओं के कारण हो रही जानमाल की क्षति से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। इस्लामाबाद में अजीज ने संवाददाताओं से कहा- हां, मैं इसकी पुष्टि कर सकता हूं कि मैं वार्ता के लिए 23 तारीख अगस्त को भारत जाऊंगा। इससे पहले उफा में भारत व पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों के बीच मुलाकात के बाद जारी बयान में कहा गया था कि दोनों देशों ने नई दिल्ली में एनएसए के बीच मुलाकात पर सहमति बनाई है जिसमें आतंकवाद से जुड़े सभी मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ के बीच पिछले महीने की मुलाकात के बाद भारत ने नई दिल्ली में 23-24 अगस्त को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और अजीज की बैठक का प्रस्ताव रखा था। अजीज ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने हमेशा बातचीत में यकीन किया है। भारत ने पिछले साल 25 अगस्त को प्रस्तावित विदेश सचिव स्तर की बातचीत को रद्द किया था। इसके बाद भारत के आग्रह पर दोनों देश 10 जुलाई को उफा में मिले और उन्होंने आग्रह किया कि दोनों एनएसए दिल्ली में मिलेंगे।

अजीज ने कहा कि सभी मुद्दों पर समग्र संवाद के संदर्भ में यह प्रस्तावित बैठक सफलता नहीं है पर कम से कम यह कुछ मुद्दों पर गतिरोध खत्म करने वाला है। उम्मीद करते हैं कि इससे आगे दोनों देशों के बीच अधिक समग्र बातचीत होगी। हम मुद्दों के समाधान के लिए बातचीत में यकीन करते हैं। अधिकारियों ने बताया कि बेलारूस से तीन दिन की यात्रा पूरी कर देश लौटे प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अंतिम स्वीकृति के बाद बैठक में हिस्सा लेने का फैसला किया गया। अजीज ने पिछले सप्ताह कहा था कि पाकिस्तान वार्ता के लिए एजंडा तैयार कर रहा है।

पाकिस्तानी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने बताया था कि पाकिस्तान को जानकारी है कि भारत के एजंडे में आतंकवाद का मुद्दा शामिल रहेगा और इस पर जवाब देने की योजना बनाई जा रही है। नियंत्रण रेखा पर तनाव बढ़ने के बीच दोनों देशों के एनएसए के बीच यह वार्ता हो रही है। भारत-पाक सीमा पर जुलाई में 19 बार संघर्षविराम उल्लंघन हुआ, जिसमें तीन भारतीय सैनिकों सहित चार लोग मारे गए। पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने अगस्त में भी कई मौकों पर नियंत्रण रेखा से सटी अग्रिम भारतीय चौकियों को निशाना बनाया।

समझा जाता है कि अजीज के साथ बैठक में भारत अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम, मुंबई हमले की सुनवाई तेज करने और ऊधमपुर आतंकी हमले के दौरान पकड़े गए पाकिस्तानी आतंकवादी सहित कुछ प्रमुख मुद्दे उठाने वाला है। इसके अलावा पंजाब के गुरदासपुर में हाल ही में हुए आतंकी हमला, सीमापार गोलीबारी, सीमा पार से घुसपैठ और पाकिस्तान में आतंकवादियों के शिविरों की मौजदूगी पर भी बातचीत होगी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने गुरुवार को गृह सचिव एलसी गोयल, विदेश सचिव एस जयशंकर, रक्षा सचिव जी मोहन कुमार और कुछ दूसरे वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उन मुद्दों पर चर्चा की जो पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज के समक्ष उठाए जाने हैं।

संभावना है कि भारत इस बात का सबूत दे सकता है कि पिछले महीने गुरदासपुर में हमला करने वाले तीन आतंकवादी पाकिस्तान से आए थे और ऊधमपुर में जिंदा पकड़ा गया आतंकवादी मोहम्मद नावेद याकूब पाकिस्तानी नागरिक है। सूत्रों ने कहा कि अजीज के साथ अपनी बातचीत के दौरान डोभाल 1993 के मुंबई धमाकों के मुख्य आरोपी दाऊद को सौंपने तथा मुंबई हमले के साजिशकर्ताओं हाफिज सईद और जकीउर रहमान लखवी को सजा सुनिश्चित करने के लिए सुनवाई को तेज करने के लिए दबाव बना सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X