ताज़ा खबर
 

पाक एनएसए सरताज अजीज ने दी नसीहत, बातचीत में हक़ीकत से परे अपेक्षाएं न रखे भारत

पाकिस्तान के विदेश मामलों पर सलाहकार सरताज अजीज के अनुसार भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बैठक यहां 14-15 जनवरी को होगी जिसमें समग्र वार्ता का कार्यक्रम तैयार किया जाएगा..

Author इस्लामाबाद | Published on: December 30, 2015 8:26 PM
sartaj Aziz, india pakistan relations, pakistan Kashmir, Kashmir Dispute, sartaj Aziz news, sartaj Aziz latest news, Pakistan sartaj Azizपाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज (पीटीआई फाइल फोटो)

पाकिस्तान के विदेश मामलों पर सलाहकार सरताज अजीज के अनुसार भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बैठक यहां 14-15 जनवरी को होगी जिसमें समग्र वार्ता का कार्यक्रम तैयार किया जाएगा। उन्होंने बातचीत में ‘यथार्थ से परे अपेक्षाएं’ नहीं रखने की बात भी कही। अजीज ने 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संक्षिप्त पाकिस्तान यात्रा के संबंध में मंगलवार को सीनेट में एक नीतिगत वक्तव्य दिया। उन्होंने कहा, ‘‘विदेश सचिव 14-15 जनवरी को मुलाकात करेंगे और 10 चिह्नित विषयों पर बातचीत के लिहाज से अगले छह महीने के लिए रूपरेखा तैयार करेंगे।’’

अजीज ने कहा कि वार्ता प्रक्रिया चुनौतीपूर्ण है क्योंकि इसमें कठिन फैसले और महत्वपूर्ण विषय शामिल हैं। उन्होंने वार्ता प्रक्रिया से ‘यथार्थ से परे अपेक्षाएं’ नहीं रखने की बात कही और कहा कि कुछ मुद्दों पर जल्द प्रगति होगी, वहीं अन्य पर प्रगति में वक्त लगेगा।

अजीज ने कहा कि मोदी की यात्रा सद्भावना यात्रा थी और पाकिस्तान और भारत में अधिकतर लोगों ने और अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इसका स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि दोनों नेता अब तक कम से कम पांच बार मुलाकात कर चुके हैं। लाहौर यात्रा से रिश्तों में आई गर्मजोशी से औपचारिक वार्ता पर असर पड़ने की उम्मीद है।

अजीज ने इस धारणा को खारिज कर दिया कि भारतीय प्रधानमंत्री ने बिना वीजा के लाहौर दौरा किया। उन्होंने कहा कि मोदी और उनके स्टाफ के 11 लोगों को 72 घंटे का वीजा दिया गया था और इस संबंध में पूरी आव्रजन प्रक्रिया का पालन किया गया। अजीज के अनुसार पाकिस्तान में उतरे अन्य लोग हवाईअड्डे के अंदर ही ठहरे और किसी विदेशी को बिना वैध वीजा बाहर नहीं निकलने दिया गया।

विपक्ष के नेता ऐतजाज अहसन के उठाये गये बिंदु पर प्रतिक्रिया देते हुए अजीज ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों के बीच पिछले साल काठमांडो में कोई गुप्त वार्ता नहीं हुई थी। दूसरे सदस्यों के उठाये गये बिंदुओं का जवाब देते हुए अजीज ने कहा, ‘‘भारत ने हमारी सकारात्मक कूटनीति, अंतरराष्ट्रीय दबाव और भारत में घरेलू लामबंदियों के चलते पाकिस्तान के प्रति शत्रुतापूर्ण रवैये को बदला है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तानाशाह किम जोंग उन के करीबी की कार दुर्घटना में मौत, बिगड़ सकते हैं नॉर्थ और साउथ कोरिया के रिश्‍ते
2 इंडोनेशिया: पुरुष के ‘बेहद नजदीक जाने’ के आरोप में महिला को सरेआम बेंत से पीटा
3 नेपाल में मधेसियों और पुलिस के बीच फिर संघर्ष, 100 घायल
ये पढ़ा क्या...
X