ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल है यह महिला! गुलालई इस्माइल पर देशद्रोह का भी अरोप

गुलालेई इस्माइल ने अभी तक इस बात का खुलासा नहीं किया है कि वह किस तरह से पाकिस्तान से निकली। उनका कहना है कि यदि उन्होंने इसका खुलासा कर दिया तो उनके कई दोस्त मुश्किल में आ सकते हैं।

पाकिस्तान की मानवाधिकार कार्यकर्ता गुलालेई इस्माइल। (image source-twitter/video grab image)

पाकिस्तान, जम्मू कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप भारत पर लगाता रहा है, लेकिन खुद पाकिस्तान में मानवाधिकारों का क्या हाल है? इसका पता ‘गुलालेई इस्माइल’ के मामले से पता चलता है। बता दें कि 32 वर्षीय गुलालेई इस्माइल का नाम पाकिस्तान की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल है। हालांकि गुलालेई अब पाकिस्तान की सेना और खूफिया एजेंसियों को चकमा देकर पाकिस्तान से फरार हो चुकी हैं और अब वह अमेरिका में हैं।

अमेरिका के मशहूर अखबर न्यूयॉर्क टाइम्स ने गुलालेई इस्माइल की स्टोरी छापी है, जिसमें गुलालेई से बातचीत के आधार पर बताया गया है कि पाकिस्तान में सेना आम लोगों पर किस तरह का जुल्म करती है। गुलालेई इस्माइल पाकिस्तान के इस्लामाबाद शहर की रहने वाली हैं और पाकिस्तान की सेना के खिलाफ काफी मुखर रही है। गुलालेई जब 16 साल की थी, तब से ही वह मानवाधिकारों के लिए आवाज उठाती रही हैं।

गुलालेई ने सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी सेना की आम लोगों और खासकर महिलाओं पर की जाने वाली ज्यादतियों के बारे में काफी लिखा है। गुलालेई इस्माइल ने पाकिस्तान में महिला अधिकारों और पाकिस्तान की सेना द्वारा किए जाने वाले बलात्कारों और लोगों को गायब करने जैसे जुल्मों के खिलाफ मुखर होकर आवाज उठायी।

गुलालेई का कहना है कि पाकिस्तान में सेना बेहद ताकतवर है। यही वजह है कि पाकिस्तान की सेना इस बात से बेहद नाराज है और उसने गुलालेई पर देशद्रोह और देश की छवि खराब करने का आरोप लगाते हुए उन्हें हिरासत में लेने की कोशिश की, लेकिन गुलालेई को इस बात की जानकारी उनके किसी दोस्त से पहले ही लग गई और वह मई के अंत में अपने घर से फरार हो गई। इसके बाद गुलालेई करीब 3 महीने तक पाकिस्तान के कई शहरों में रहीं और एक जगह से दूसरी जगह बदलती रहीं। पाकिस्तान से सुरक्षित निकालने में गुलालेई के दोस्तों ने काफी मदद की और अपने घरों में शरण दी।

गुलालेई ने बातचीत के दौरान बताया कि पाकिस्तान से निकलने के दौरान वह कई चेकप्वाइंट और चौकियों से गुजरीं। इस दौरान बुर्के के चलते उन्हें कोई पहचान नहीं पाया। गुलालेई ने बताया कि पाकिस्तान से निकलने के दौरान उन्होंने हवाई सफर नहीं किया, क्योंकि इससे उनके पकड़े जाने का डर था। खास बात ये है कि गुलालेई इस्माइल ने अभी तक इस बात का खुलासा नहीं किया है कि वह किस तरह से पाकिस्तान से निकली। उनका कहना है कि यदि उन्होंने इसका खुलासा कर दिया तो उनके कई दोस्त मुश्किल में आ सकते हैं।

माना जा रहा है कि गुलालेई अफगानिस्तान या ईरान से होते हुए जलमार्ग से फरार हुई हैं। गुलालेई इस्माइल फिलहाल अमेरिका के ब्रुकलिन में अपनी बहन के साथ रह रही हैं, लेकिन उन्हें पाकिस्तान में अपने माता-पिता की सुरक्षा की काफी चिंता है। गुलालेई ने फिलहाल अमेरिका में शरण मांगी है और अमेरिका के कुछ नेताओं ने भी शरण देने के मामले में गुलालेई की मदद करने की बात कही है।

गुलालेई ने अब अपना एक रिसर्च और एडवोकेसी ग्रुप की स्थापना की है, जिसे ‘वॉयस फॉर पीस एंड डेमोक्रेसी’ नाम दिया गया है। इसके साथ ही कानून की पढ़ाई कर गुलालेई आगे भी मानवाधिकारों की लड़ाई जारी रखना चाहती हैं।

Next Stories
1 VIDEO: लाइव टीवी पर फजीहत, कश्मीर पर बोलते बोलते कुर्सी से गिर गए पाकिस्तानी पैनलिस्ट
2 जलवायु परिवर्तन पर पीएम मोदी की कटिबद्धता, यूएन हेडक्वार्टर की छत पर ‘गांधी सौर पार्क’ का करेंगे उद्घाटन, 10 लाख डॉलर हुए हैं खर्च
3 रिपोर्ट: हर साल बिल्लियां 2.6 अरब पक्षियों को मारती हैं, खिड़कियों से टकराते हैं 62.4 करोड़ पक्षी
ये पढ़ा क्या?
X