ताज़ा खबर
 

महंगाई की मार से बेहाल हुआ पाकिस्तान, 140 रुपये लीटर बिक रहा दूध!

पाकिस्तान की माली हालत इतनी खराब है कि वहां दूध जैसी रोजमर्रा की चीजें भी इतनी महंगी बिक रही हैं कि आम लोगों का उसे खरीदना मुमकिन नहीं है।

Muharram, pakistan, imran khan, milk, unhrc, kashmir, article 370, india pakistan, pakistan debt, pakistan economic crisis, pakistan, petrol prices Pakistan, Karachi Commissioner, Iftikhar Shallwani, Commissioner Officeआर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान। फोटो: इंडियन एक्सप्रेस

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने अपनी तमाम आर्थिक दुश्वारियों के बावजूद कश्मीर का राग अलापना जारी रखा है। पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में मंगलवार को जम्मू और कश्मीर के मामले को एक बार फिर उठाने की कोशिश की, लेकिन भारत ने जबर्दस्त पलटवार किया और उसकी बोलती बंद कर दी।

उधर, पाकिस्तान की माली हालत इतनी खराब है कि वहां दूध जैसी रोजमर्रा की चीजें भी इतनी महंगी बिक रही हैं कि आम लोगों का उसे खरीदना मुमकिन नहीं है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुहर्रम के मौके पर यहां आम खाने पीने की चीजों की कीमतें सातवें आसमान पर पहुंच गईं हैं। कराची और सिंध प्रांत में दूध की कीमत 140 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गई है। यह कीमत पाकिस्तानी करेंसी के मुताबिक है। पाक अखबार एक्सप्रेस न्यूज के मुताबिक, यहां का स्थानीय ‘डेयरी माफिया’ मुहर्रम के मौके पर दूध की बढ़ी मांग के बीच नागरिकों से लूट पर उतर आया है और मनमानी कीमत वसूल रहा है।

बता दें कि मोहर्रम पर दूध का इस्तेमाल शरबत और खीर आदि बनाने में किया जाता है। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानीय प्रशासन ने लोगों की समस्याओं के प्रति अपनी आंखें मूंद ली हैं। हालात इतने खराब हो चले हैं कि दूध की दुकानें अब सिर्फ सुबह और शाम के वक्त कुछ घंटों के लिए खोली जाती हैं।

वहीं, सरकार की ओर से भी कोई राहत नहीं है। खबरों के मुताबिक, सरकार ने दूध की कीमत 94 रुपये लीटर तय की है। हालांकि, यह कभी भी आम लोगों को 110 रुपये लीटर से कम नहीं मिलता। उधर, मामले पर लोगों की तीखी प्रतिक्रिया देखते हुए सिंध सरकार ने डेयरी मालिकों के साथ मीटिंग करने का फैसला किया है।

उधर, भारत ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में कश्मीर का मामला उठाने के लिए मंगलवार को पाकिस्तान को एक बार फिर निशाने पर लिया। भारत ने कहा कि खुद मानवाधिकारों के मामले में बेहद खराब रिकॉर्ड रखने वाले एक देश ने लोगों के सामने झूठी और मनगढ़ंत कहानी पेश की है। भारत ने यह साफ कर दिया कि वह अपने अंदरूनी मामलों में किसी अन्य की दखल बर्दाश्त नहीं करेगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 MDH के सांभर मसाला में मिले सलमोनेलोसिस बीमारी फैलाने वाले बैक्टीरिया! अमेरिका से वापस मंगवाए गए स्टॉक
2 UNHRC में बोला भारत- झूठ की फैक्ट्री चला रहा पाकिस्तान, आंतरिक मामलों में दखल बर्दाश्त नहीं
3 चीन और पाकिस्तान ने छेड़ा कश्मीर राग तो भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब, कहा- POK में रोको ‘कॉरिडोर’ का काम