ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान बना रहा है बड़ा परमाणु भंडारघर, अमेरिकी सैटेलाइट ने ली दो तस्वीरें

इस्लामाबाद से करीब 30 किलोमीटर दूर कहुता में यूरेनियम का एक नया भंडारघर बना रहा है। एक अमेरिकी सैन्य सैटेलाइट से प्राप्त तस्वीरों ने इसकी पुष्टि की है।

पाकिस्तान, परमाणु होड़, परमाणु भंडारघर, कहोता, सैटेलाइट तस्वीरपाकिस्तान में निर्माणाधीन परमाणु भंडारघर (फोटो- रायटर्स)

पाकिस्तान परमाणु भंडारण की होड़ में लगा हुआ है। खबर है कि वो दुनिया का सबसे तेजी से परमाणु भंडारण करने वाला बढ़ता हुआ देश बन गया है। वो इस्लामाबाद से करीब 30 किलोमीटर दूर कहुता में यूरेनियम का एक नया भंडारघर बना रहा है। एक अमेरिकी सैन्य सैटेलाइट से प्राप्त तस्वीरों ने इसकी पुष्टि की है। वैश्विक सुरक्षा पर शोध सामग्री प्रकाशित करनेवाली पत्रिका आईएचएस जेन्स इंटेलिजेंस ने इस सैटेलाइट इमेजरी की व्याख्या की है। ये तस्वीरें 28 सितंबर, 2015 और 18 अप्रैल 2016 को ली गई हैं। शोध में कहा गया है कि पाकिस्तान इस बात को पुख्ता करता है कि कैसे वो परमाणु शस्त्रागार बनाने की होड़ में परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह देशों के सिद्धान्तों से अनुचित समझौता कर रहा है। गौरतलब है कि पाकिस्तान ने साल 1998 में सबसे पहला परमाणु परीक्षण किया था। माना जाता है कि आज की तारीख में उसके पास 120 से ज्यादा परमाणु शस्त्र हैं जो भारत, इजरायल और उत्तरी कोरिया से ज्यादा है।

कैनरीज एंडोमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस एंड स्टिमसन सेन्टर द्वारा साल 2015 में प्रकाशित एक शोध में कहा गया था कि पाकिस्तान साल के अंत तक 20 हथियारों से अपने भंडार भर सकता है। इसके साथ ही वो इस दशक के अंत तक दुनिया का तीसरा बड़ा परमाणु भंडारण वाला देश बन जाएगा। आईएचएस जेन्स के प्रसार विशेषज्ञ कार्ल डेवी के मुताबिक यह निर्माणाधीन भंडारगृह संवेदनशील और अतिमहत्वपूर्ण सुरक्षावाले क्षेत्र में स्थित है। जो खान रिसर्च लैबोरेट्रीज में करीब 1.2 हेक्टेयर में दक्षिणी-पश्चिमी हिस्से में फैला हुआ है।

डेवी के अनुसार, जहां भंडारगृह का निर्माण हो रहा है, उस साइट पर यूरोपीय न्यूक्लियर फ्यूल कंपनी ‘यूरेनको’ के समान ही संरचना है। आईएचएस जेन्स के सैटेलाइट इमैजरी एनालिस्ट चार्ली कार्टराइट कहते हैं कि ‘यह संयोग भी हो सकता है क्योंकि पाकिस्तान के न्यूक्लियर प्रोग्राम के जनक ए क्यू खान पाकिस्तान लौटने से पहले यूरेनको में काम कर चुके हैं।’ पाकिस्तान फिलहाल उन 48 देशों के न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में एंट्री के लिए बेकरार है जो परमाणु सामग्री,तकनीक और उपकरणों के निर्यात को नियंत्रित कर परमाणु प्रसार को रोकने के लिए वचनबद्ध है।

Read Also-उत्तरी-पश्चिमी पाकिस्तान की मस्जिद में मानव बम विस्फोट, 23 की मौत, 25 घायल

Next Stories
1 बलूच नेताओं को शरण देने की तैयारी में भारत, 57 साल बाद पहली बार होगा ऐसा
2 उत्तरी-पश्चिमी पाकिस्तान की मस्जिद में मानव बम विस्फोट, 23 की मौत, 25 घायल
3 ISIS की थी सेक्स गुलाम, अब है मानव तस्करी के खिलाफ यूएन की सद्भावना राजदूत
ये पढ़ा क्या?
X