scorecardresearch

जानिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पर समुद्र में डूब रहे 6 भारतीय मछुआरों के लिए पाकिस्तान नेवी के जवान कैसे बने सहारा

Pakistan Navy Saved Indian Fishermen: पीएमएसए जहाज ने बचाए गए मछुआरों को चिकित्सा सहायता और खाने-पीने का समान दिया, जिससे उनकी शारीरिक स्थिति ठीक हुई। उसके बाद मछुआरों को भारतीय तट रक्षक जहाज को सौंप दिया।

जानिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पर समुद्र में डूब रहे 6 भारतीय मछुआरों के लिए पाकिस्तान नेवी के जवान कैसे बने सहारा
Pak Navy Saved Indian Fishermen: तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए (Photo- Indian Express)

Pakistan Navy Saved 6 Indian Fishermen: पाकिस्तान नेवी के जवानों ने समुद्र में डूब रहे 6 भारतीय मछुआरों की जान बचाई। पाकिस्तानी नेवी के जवान उन 6 मछुआरों के लिए के लिए किसी फरिश्ते से कम साबित नहीं हुए, जो समुद्र में डूब रहे थे। दरअसल, एक पीएमएसए जहाज ने भारत और पाकिस्तान के बीच अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के करीब डूब रहे 6 भारतीय मछुआरों को बचाया। उर्दू प्वॉइंट अनुसार, पीएमएसए जहाज पूर्वी समुद्री क्षेत्र में गश्त कर रहा था और उसे छह भारतीय मछुआरे पानी में मिले, जिसके बाद एक बचाव अभियान तुरंत शुरू किया गया।

पाकिस्तानी जवानों ने इस बचाव अभियान में भारतीय मछली पकड़ने वाली नाव के सभी चालक दल के सदस्यों को सुरक्षित बचा लिया। पीएमएसए जहाज ने बचाए गए मछुआरों को चिकित्सा सहायता और खाने-पीने का समान दिया, जिससे उनकी शारीरिक स्थिति को स्थिर करने में मदद मिली। उसके बाद बचाए गए मछुआरों को क्षेत्र में काम कर रहे एक भारतीय तट रक्षक जहाज को सौंप दिया गया। बचाए गए मछुआरों के साथ-साथ भारतीय तटरक्षक बल ने पीएमएसए जहाज के मानवीय भाव की सराहना की।

पाकिस्तान में पिछले 9 महीने में 6 भारतीय कैदियों की मौत

दूसरी तरफ भारतीय विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि पिछले 9 महीने में पाकिस्तान में 6 भारतीय कैदियों की मौत हुई है और इस विषय को इस्लामाबाद के समक्ष उठाया गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने मीडिया से कहा कि यह समस्या जारी है जो पाकिस्तान में भारतीय कैदियों की मौत के बढ़ते मामलों से जुड़ी है। उन्होंने कहा कि पिछले नौ महीने में छह भारतीय कैदियों की पाकिस्तान में मौत हुई है जिसमें से पांच मछुआरे हैं।

सभी कैदियों ने अपनी सजा पूरी कर ली थी

बागची ने कहा कि स्थिति चिंताजनक है क्योंकि इन सभी ने अपनी सजा पूरी कर ली थी और इन्हें अवैध तरीके से रखा गया था। उन्होंने कहा कि हमने इस विषय को पड़ोसी देश के समक्ष उठाया है । इस विषय को पाकिस्तान में हमारे उच्चायोग ने भी उठाया है। प्रवक्ता ने कहा कि यह पाकिस्तान की जिम्मेदारी है कि वह अपने देश में भारतीय कैदियों की सुरक्षा सुनिश्चित करे।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 07-10-2022 at 06:33:41 pm