ताज़ा खबर
 

VIDEO: पाकिस्‍तान में आतंकी बुरहान वानी के ‘सम्‍मान’ में फिल्‍म, रिलीज हुआ टीजर

पाकिस्‍तान में बनी फिल्‍म में हिजबुल आतंकी बुरहान वानी का महिमामंडन किया गया है।

Author नई दिल्‍ली | January 1, 2018 4:07 PM
सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया हिजबुल आतंकी बुरहान वानी। (फाइल फोटो)

आतंकियों को पनाह और संरक्षण देने के मामले में पाकिस्‍तान का चेहरा एक बार फिर से बेनकाब हुआ है। जी हां! पाकिस्‍तान में भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा जम्‍मू-कश्‍मीर में मारे गए हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को महिमामंडित करने वाली फिल्‍म बनाई गई है। इसका टीजर जारी किया गया है। निर्दोष लोगों का खून बहाने वाले आतंकी पर फिल्‍म बनाकर उसे सम्‍मानित करना आतंक के प्रति पाकिस्‍तान के रवैये को दिखाता है। आतंकी बुरहान को भारतीय सुरक्षाबलों ने 8 जुलाई 2016 को मार गिराया था। इसके बाद आतंकी के समर्थन में लगातार विरोध प्रदर्शन भी हुए थे। पाकिस्‍तान में एक आतंकी पर खुलेआम फिल्‍म बनाना अमेरिका द्वारा लगातार दी जा रही चेतावनियों का भी मखौल है।

पाकिस्‍तान में एनिमेटेड फिल्‍म ‘बुरहान: द सन ऑफ कश्‍मीर’ फिल्‍म का टीजर सोमवार (एक जनवरी) को जारी किया गया है। इसमें फिल्‍म के जल्‍द ही रिलीज होने की बात कही गई है। पाकिस्‍तानी फिल्‍म निर्देशक राणा अबरार ने इसका निर्देशन किया है। फिल्‍म में आतंकी बुरहान को ‘स्‍वतंत्रता संग्राम का नायक’ बताया गया है। हास्‍यास्‍पद तो यह है कि हिजबुल आतंकी की तुलना शहीद भगत सिंह और टिपू सुल्‍तान तक से की गई है। इसे उकसावे वाली कार्रवाई मानी जा रही है। भारत बुरहान वानी को महिमामंडित करने को लेकर कई बार पाकिस्‍तान की आलोचना कर चुका है। पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पिछले साल हिजबुल आतंकी के मारे जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था, ‘बुरहान वानी के मारे जाने से घाटी में आजादी की लड़ाई को नई जान मिली है।’ इसके अलावा नवाज ने कहा था कि पाकिस्‍तान कश्‍मीरी लोगों के संघर्ष में कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। भारत ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने पिछले साल एशिया पैसिफिक और दक्षिण एशिया के लिए नई नीति जारी की थी। उन्‍होंने पाकिस्‍तान को स्‍पष्‍ट शब्‍दों में आतंकियों के पनाहगाह को खत्‍म करने या फिर परिणाम भुगतने को तैयार रहने की चेतावनी भी दी थी। इसके बावजूद इस्‍लामाबाद की सेहत पर इसका कोई असर नहीं पड़ा था। पाकिस्‍तान द्वारा आतंकियों के खिलाफ माकूल कार्रवाई नहीं करने के कारण अमेरिका ने पिछले दिनों अरबों रुपये की आर्थिक मदद पर रोक लगाने के संकेत दिए थे। भारत लंबे समय से पाकिस्‍तान में आतंकियों के अड्डे होने की बात कह रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App