scorecardresearch

महिला नेता ने छोड़ी पार्टी, कहा- गंदे एसएमएस भेजते हैं इमरान खान, इज्जत नहीं गंवा सकती

इस्तीफा देते हुए आयशा ने कहा, “मेरी इज्जत मेरी लिए ज्यादा मायने रखती है” और “मैं अपनी अस्मत और गैरत से समझौता नहीं कर सकती।”

Ayesha Gulalai, pakistan
आयशा गुलालाई पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली की सांसद थीं। (तस्वीर- डॉन न्यूज का स्क्रीनशॉट)
पाकिस्तान की प्रमुख राजीतिक पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) की नेता आयशा गुलालाई ने पार्टी प्रमुख और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान पर गंभीर आरोप लगाते इस्तीफा दे दिया। आयाशा ने इमरान खान को “चरित्रहीन” बताते हुए कहा कि वो उन्हें और पार्टी की दूसरी महिलाओं को “अश्लील मैसेज” भेजेते हैं। इस्तीफा देते हुए आयशा ने कहा, “मेरी इज्जत मेरी लिए ज्यादा मायने रखती है” और “मैं अपनी अस्मत और गैरत से समझौता नहीं कर सकती।” आयशा ने शाहिद अब्बासी के नवाज शरीफ की जगह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने से कुछ ही देर पहले दिया।

आयशा ने इमरान खान के साथ ही पीटीआई पर भी गंभीर आरोप लगाए। आयशा ने पाकिस्तानी दैनिक डॉन से बातचीत में कहा कि पीटीआई में “महिला कार्यकर्ताओं का कोई सम्मान नहीं है और गैरतमंद महिलाएं इमरान खान की पार्टी में नहीं काम कर सकतीं।” हालांकि पीटीआई नेता शिरीन मजारी ने आयशा के लगाए आरोपो को खारिज करते हुए कहा कि उन्हें पार्टी ने चुनाव में टिकट नहीं दिया इसलिए वो ऐसे आरोप लगा रही हैं। मजारी ने कहा कि इमरान खान सभी महिलाओं कि इज्जत करते हैं।

दूसरी तरफ आयशा ने पीटीआई से इस्तीफा देने के बाद एक प्रेस वार्ता करके शिरीन के दावे को बकवास बताया। आयशा ने इनकार किया कि वो आम चुनाव में एनए-1 संसदीय सीट से टिकट की तलबगार थीं। आयशा ने खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री परवेज खटक पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। आयशा ने सीएम परवेज को “माफिया बॉस” जैसा बताया।

आयशा पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली में फेडरली एडमिनिस्ट्रेटेड ट्राइबल एरियाज (फाटा) से महिलाओं के लिए सुरक्षित सीट से चुनी गई थीं। आयशा इमरान खान और पीटीआई की प्रबल समर्थकों में थीं लेकिन पार्टी की प्राथमिक सदस्यता के साथ ही एनए संसदीय सीट से भी इस्तीफा दे दिया है।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.