Pakistan: पिस्टल लिए मंदिर में घुसे तीन लोगों ने मूर्ति को किया अपवित्र - Jansatta
ताज़ा खबर
 

Pakistan: पिस्टल लिए मंदिर में घुसे तीन लोगों ने मूर्ति को किया अपवित्र

मंदिर के पुजारी का कहना है कि हम नहीं जानते वो लोग कौन थे। हमने उन्हें पहली कभी नहीं देखा। इस घटना के बाद से हम लोग बेहद दुखी और डरे हुए हैं।

आठ साल पहले इस मंदिर में एक और चमत्कार हुआ था जब सिंदूर में काली माता के पैरों के चिन्ह उभर आये थे।

पाकिस्तान के कराची शहर में 60 साल पुराने एक हिंदू मंदिर को तीन लोगों ने अपवित्र कर दिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार लंबी दाढ़ी वाले तीन लोग पिस्टल लेकर मंदिर मे घुसे और मंदिर की एक मूर्ति को अपवित्र कर दिया। इस पूरी घटना के बाद शहर के अल्पसंख्यक हिंदू डरे हुए हैं।

पाकिस्तानी अखबर डॉन की रिपोर्ट के अनुसार 21 जनवरी को तीन लोग सलवार-कमीज पहने पिस्टल लहराते हुए मंदिर में घुसे और मंदिर में मौजूद लोगों को मंदिर से बाहर जाने के कहा, लोगों ने जब विरोध जताया तो उन्होंने मंदिर की एक प्रतिमा को अपवित्र कर दिया।

इस घटना के बाद पुजारी महाराज हिरालाल का कहना है कि इस हमले के बाद लोग मंदिर में पूजा करने से डर रहे हैं।  हम नहीं जानते वो लोग कौन थे। हमने उन्हें पहली कभी नहीं देखा। इस घटना के बाद से हम लोग बेहद दुखी और डरे हुए हैं।

पुजारी ने मंदिर के बारे में बताया कि इस मंदिर को 60 साल पहले उनके दादा ने बनवाया था। इस मंदिर में शीतला माता, संतोषी माता और भवानी माता की तीन मूर्तियां थी।

पुजारी ने बताया कि मेरे दादा की कोई संतान नहीं थी इसलिए उन्होंने 14 साल के लड़के मोहन को गोद ले लिया बाद में मोहन की चंपा बाई नाम की लड़की से शादी करा दी गई। मैं उन्हीं मोहन और चंपा बाई का लड़का हूं।

मंदिर के बार में यह बात प्रसिद्ध थी कि इस मंदिर में पूजा करने से बाँझ महिलाओं को संतान की प्राप्ति हो जाती थी। आठ साल पहले इस मंदिर में एक और चमत्कार हुआ था जब सिंदूर में काली माता के पैरों के चिन्ह उभर आये थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App