ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान ने पठानकोट हमले के आरोपी मसूद अजहर सहित 5100 संदिग्ध आतंकियों के बैंक खाते किए फ्रीज

इन खातों में 40 करोड़ रुपये से अधिक राशि थी। अजहर भारत में पठानकोट एयरबेस पर आतंकवादी हमले के बाद से ‘एहतियातन हिरासत’ में है।

Author इस्लामाबाद | October 25, 2016 7:45 AM
आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मौलाना मसूद अजहर। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर समेत 5100 संदिग्ध आतंकवादियों के बैंक खाते से लेन-देन पर रोक लगा दी है। इन खातों में 40 करोड़ रुपये से अधिक राशि थी। अजहर भारत में पठानकोट एयरबेस पर आतंकवादी हमले के बाद से ‘एहतियातन हिरासत’ में है। स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘गृह मंत्रालय के अनुरोध के बाद हमने अल्ला बख्श के बेटे मसूद अजहर समेत सभी शीर्ष संदिग्ध आतंकवादियों के बैंक खाते से लेन-देन पर रोक लगा दी है।’’ ‘द न्यूज’ ने अधिकारी के हवाले से बताया कि गृह मंत्रालय ने हजारों संदिग्धों की तीन अलग-अलग सूची भेजी जिसमें कुछ प्रतिबंधित संगठनों के सरगना भी शामिल हैं।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें:

समाचार पत्र के अनुसार तकरीबन 1200 संदिग्ध जिनके बैंक खाते से एसबीपी ने लेन-देन पर रोक लगाई है उन्हें आतंकवाद निरोधक अधिनियम, 1997 के तहत ‘ए’ श्रेणी के तहत रखा गया है। गृह मंत्रालय और एसबीपी के अधिकारियों ने बताया कि अजहर को शीर्ष संदिग्धों की सूची में शामिल किया गया है, जिनके बैंक खाते से लेन-देन पर एसबीपी ने रोक लगाई है। अखबार ने अधिकारियों के हवाले से बताया, ‘‘अजहर के नाम को चतुर्थ अनुसूची की ‘ए’ श्रेणी में रखा गया है।’’

अधिकारियों ने बताया, ‘‘ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि सरकार ने पठानकोट हवाई ठिकाने पर आतंकवादी हमला होने के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने जेईएम प्रमुख को ‘एहतियातन हिरासत’ में डाला हुआ है।’’ नेशनल काउन्टर टेररिज्म अथॉरिटी ने इस महीने की शुरूआत में तकरीबन 5500 नाम एसबीपी को भेजे थे। नेशनल काउन्टर टेररिज्म अथॉरिटी के राष्ट्रीय समन्वयक एहसान गनी ने पुष्टि की कि एसबीपी ने 5000 से अधिक संदिग्धों के बैंक खाते से लेन-देन पर रोक लगा दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X