थाने में महिला को कपड़े उतारकर नाचने पर किया मजबूर, महिला अधिकारी पर कार्रवाई

पाकिस्तान में एक महिला कैदी को थाने में पहले तो कपड़े उतारने को मजबूर किया गया, फिर सबके सामने उससे डांस भी करवाया गया है। इस मामले में एक महिला पुलिस अधिकारी को बर्खास्त कर दिया गया है।

crime against women in pakistan
पाकिस्तान में थाने के अंदर महिला के साथ दरिंदगी (प्रतीकात्मक फोटो @pixabay)

पाकिस्तान में पुलिस ने एक महिला कैदी को कपड़े उतारकर थाने में ही नाचने के लिए मजबूर कर दिया। महिला के साथ इस दरिंदगी में पुरुषकर्मी के बजाय महिला पुलिसकर्मी ही शामिल थी। मामला सामने आने के बाद आरोपी महिला पुलिस अधिकारी को बर्खास्त कर दिया गया है।

घटना पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत की है। पाकिस्तान पुलिस की तरफ से कहा गया है कि देश के दक्षिण-पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत में एक महिला को जबरन नंगा करने और नाचने के लिए मजबूर करने के बाद एक पाकिस्तानी महिला पुलिस अधिकारी को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। पुलिस ने शुक्रवार को ये जानकारी दी।

टाइम्स नाउ के अनुसार पाकिस्तान की पुलिस इन्क्वायरी कमेटी ने इंस्पेक्टर शबाना इरशाद को पुलिस रिमांड के दौरान जेल में बंद एक महिला के साथ अपने अधिकार का दुरुपयोग करने और अमानवीय कृत्य करने का दोषी पाया था। क्वेटा के डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस मुहम्मद अजहर अकरम ने मामले की जानकारी देते हुए कहा- “इनवेस्टिगेशन में पाया गया कि महिला इंस्पेक्टर ने जिन्ना बस्ती से एक बच्चे की हत्या के संबंध में एक महिला आरोपी परी गुल को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद उसे पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन लाया गया। जब महिला पुलिस रिमांड में थी, तब महिला निरीक्षक शबाना ने उसके साथ बुरा सलूक किया। उसे न केवल उसे नंगा किया, बल्कि उसे जेल में दूसरों के सामने नाचने के लिए भी मजबूर किया”।

इस केस में अब कोर्ट ने पीड़ित महिला को बच्चे की हत्या के मामले में जेल कस्टडी में भेज दिया है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि महिला निरीक्षक के पास अपने बचाव में कहने के लिए कुछ नहीं था। जिसके बाद उसे जबरन सेवा से हटा दिया गया और बर्खास्त कर दिया गया है।

उ डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस मुहम्मद अजहर अकरम ने कहा कि जब एक महिला निरीक्षक ही एक महिला कैदी के साथ ऐसा कर सकती है और अपने अधिकार का दुरुपयोग कर सकती है, तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। इसलिए हमने आदेश दिया है कि जेल में भी एक महिला कैदी से केवल एक महिला निरीक्षक ही पूछताछ कर सकती है। ताकि जेल में भी उनकी सुरक्षा की जा सके।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट