ताज़ा खबर
 

फैक्टरी के मलबे से 50 घंटे बाद जिंदा निकला युवक

पाकिस्तान के लाहौर में एक कारखाने के ध्वस्त होने के लगभग 50 घंटे बाद एक युवक को मलबे से जिंदा बाहर निकाला गया है। युवक के परिवार के सदस्यों के चेहरे पर..

Author लाहौर | November 8, 2015 12:40 AM

पाकिस्तान के लाहौर में एक कारखाने के ध्वस्त होने के लगभग 50 घंटे बाद एक युवक को मलबे से जिंदा बाहर निकाला गया है। युवक के परिवार के सदस्यों के चेहरे पर खुशी लौट आई जिन्होंने उसे मृत मान लिया था। युवक के परिवार ने एक शव को उसका शव मानकर दफना भी दिया था। बचावकर्मियों ने 18 वर्षीय मोहम्मद शाहिद का शव शुक्रवार को चार मंजिला कारखाने के मलबे से निकाला जो लाहौर के पास एक औद्योगिक क्षेत्र में गत बुधवार को ध्वस्त हो गया था।

शाहिद के परिवार ने उसे मृत मान लिया था क्योंकि उन्होंने अस्पताल में एक शव की पहचान उसके शव के तौर पर की और उसे दफना दिया। स्थानीय मीडिया ने शाहिद के भतीजे कलीम उल्ला के हवाले से कहा कि उन्हें टेलीविजन पर जिंदा देखने से पहले तक हम दुख में थे। शाहिद को पैर में चोट लगी है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी स्थिति स्थिर बतायी गई है।

इस बीच, बैग बनाने वाली चार मंजिला फैक्टरी की इमारत ढहने की घटना में मरने वालों की संख्या बढ़कर 45 हो गई है। बचाव दलों ने शनिवार को मलबे से चार और शव निकाले। लाहौर के सुंदर इंडस्ट्रियल एस्टेट में राजपूत पोलिएस्टर पॉलिथीन बैग फैक्टरी की इमारत बुधवार को विस्तार कार्य के दौरान ढह गई थी। दर्जनों की संख्या में बचावकर्मी, नागरिक व सेना के लोग वहां राहत कार्यों में जुटे हुए हैं।

‘डॉन’ की खबर के अनुसार, बचावकर्मियों ने शनिवार को फैक्टरी के मलबे से और चार शव निकाले, जिसके साथ ही मरने वालों की संख्या बढ़कर 45 हो गई है। सैनिक और बचावकर्मी बहुत ध्यान से स्टील काट रहे हैं और मलबा हटा रहे हैं, ताकि मलबे जीवित बचे किसी व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुंचे। मलबे से जीवित बाहर निकाले गए लोगों का कहना है कि अंदर फंसे हुए लोगों में बच्चे भी हैं। फैक्टरी मालिक का शव भी निकाल लिया गया है। बचावकर्मियों ने बताया कि 167 लोग अंदर फंसे हुए थे जिनमें से 109 लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। इन्हें मामूली चोटें आई हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App