scorecardresearch

पाकिस्तान के दूतावास ने ही उठाए पीएम इमरान खान पर सवाल, कहा- सैलरी न मिलने से स्कूल से निकाल दिए गए बच्चे

सर्बिया के दूतावास कर्मियों ने सैलरी को लेकर बगावती तेवर दिखा दिए हैं जिसके कारण इमरान सरकार को शर्मसार होना पड़ रहा है।

imran khan
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (सोर्स- एपी फाइल फोटो/ एलेक्स ब्रैंडन)

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके नेतृत्व वाली सरकार को उनके ही दूतावास ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शर्मसार कर दिया है। पाकिस्तान के पाकिस्तान के एक दूतावास के ट्विटर हैंडल ने यह बताया है कि दूतावास के कर्मचारियों को उनकी सैलरी का भुगतान नहीं किया गया। इस खुलासे ने कंगाली और बदहाली की मार झेल रहे पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फजीहत करा दी है।

सर्बिया स्थित पाकिस्तानी दूतावास के ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर पाकिस्तान के पीएम से पूछा गया है, ”महंगाई पिछले सभी रिकॉर्ड्स को तोड़ रही है। प्रधानमंत्री इमरान खान आप हमसे कब तक उम्मीद करते हैं कि हम सरकारी अधिकारी चुप रहेंगे और तीन महीने से सैलरी नहीं मिलने के बावजूद हम फिर भी आपके लिए काम करते रहेंगे। स्कूल की फीस न भरने के कारण हमारे बच्चों को स्कूलों से निकाल दिया गया है। क्या ये नया पाकिस्तान है?” एक अन्य ट्वीट में दूतावास द्वारा कहा गया है, ”हमें इसका खेद है लेकिन हमारे पास कोई और विकल्प नहीं था।”

इस पोस्ट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया गया है जिसमें पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को ‘आप ने घबराना नहीं’ वाली टिप्पणी को लेकर खिंचाई की गई है। सईद अलेवी ऑफिशियल के वॉटरमार्क के साथ शेयर किए गए इस वीडियो में खाने की चीजों और दवाओं आदि दैनिक जरूरतों की अधिक कीमतों को लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया गया है।

कुछ दिनों पहले, एक कार्यक्रम के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि बढ़ता विदेशी कर्ज और टैक्स रिवेन्यू में कमी राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा बन गया है क्योंकि क्योंकि सरकार के पास लोगों के कल्याण पर खर्च करने के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं। उन्होंने खुद ये माना था कि देश चलाने के लिए उनके पास पर्याप्त संसाधन नहीं हैं।

वहीं, अब सर्बिया के दूतावास कर्मियों ने सैलरी को लेकर बगावती तेवर दिखा दिए हैं जिसके कारण इमरान सरकार को शर्मसार होना पड़ रहा है। पाकिस्तान में रोज-मर्रा के जरूरत की चीजें भी आम आदमी के पहुंच से बाहर होती जा रही हैं।

पाकिस्तान में आटा, दाल, चीनी, सब्जी और फलों के दाम आसमान छू रहे हैं। पेट्रोल के बढ़ते दाम अलग ही मुश्किलें पैदा कर रहे हैं। देश में महंगाई चरम पर पहुंच चुकी है, जिसको लेकर विपक्ष लगातार इमरान सरकार पर हमलावर है और उनकी नीतियों की आलोचना कर रहा है।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.