ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश ने PM इमरान खान को चेताया- जूडिशरी पर ना करें कटाक्ष, वर्ना…

रहमान ने दावा किया कि खान के नेतृत्व से चल रही पाकिस्तान की तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार के दिन लद गये हैं। रहमान ने कहा, ‘‘इस सरकार की जड़ें कट गयी हैं। इनके पास महज कुछ ही दिन रह गये हैं।’’ ‘जीओ न्यूज’ के हवाले उन्होंने कहा, ‘‘इमरान खान की बहन को एनआरओ दिया गया है।

Author कराची | Updated: November 21, 2019 1:15 PM
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (फाइल फोटोः AP)

पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा ने प्रधानमंत्री इमरान खान को न्यायालय के खिलाफ उनकी हालिया टिप्पणियों को लेकर नसीहत देते हुए उनसे बयान देते समय “सावधानी” बरतने और “कटाक्ष” नहीं करने के लिये कहा। दरअसल, लाहौर उच्च न्यायालय ने इमरान खान सरकार की 700 करोड़ रुपये का बांड भरने की शर्त को दरकिनार कर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को इलाज कराने के लिये विदेश जाने की अनुमति दे दी थी, जिसे लेकर सरकार और न्यायपालिका के बीच मतभेद सामने आ गए।

इमरान ने सोमवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के हवेलियां में एक जनसभा को संबोधित करते हुए सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा और वरिष्ठ न्यायाधीश गुलजार अहमद से जनता के बीच न्यायपालिका के प्रति भरोसा बहाल करने के लिये आगे आने का आग्रह किया था। खान ने यह भी कहा था कि देश की न्यायिक प्रणाली में शक्तिशाली और आम लोगों के साथ व्यवहार में कथित असमानता है। उन्होंने कहा था कि वह इस धारणा को बदलने और संस्थानों के प्रति जनता के विश्वास को बहाल करने के लिए न्यायपालिका का साथ देने के लिए तैयार हैं।

मुख्य न्यायाधीश खोसा ने यहां उच्चतम न्यायालय में एक कार्यक्रम में कहा कि प्रधानमंत्री को ऐसे बयान देने से बचना चाहिये क्योंकि वह सरकार के मुख्य कार्यकारी हैं। खोसा ने कहा, “आदरणीय प्रधानमंत्री ने जिस विशेष मामले का जिक्र किया, मैं उस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। लेकिन उन्हें (प्रधानमंत्री खान को) ये पता होना चाहिये कि उन्होंने खुद ही किसी को (नवाज शरीफ को) विदेश जाने की अनुमति दी। उच्च न्यायालय में सिर्फ तौर-तरीके पर सुनवाई हुई। कृपया (बयानों को लेकर) सावधान रहें।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजनीतिक विज्ञापनों पर Google हुआ सख्त, दुरुपयोग रोकने के लिए कड़े किए नियम
2 ’25 लाख खर्च कर गए थे, कई दिनों तक भूखे रहे, हाथ-पैर बांधकर प्लेन में भेजा’, अमेरिका से जबरन लौटाए गए 150 भारतीयों की दर्दनाक दास्तां!
3 श्रीलंकाः हार के बाद PM का इस्तीफा, नए राष्ट्रपति ने आगे बढ़ाया भाई का नाम, अब महिंद्रा राजपक्षे होंगे प्रधानमंत्री
जस्‍ट नाउ
X