ओबामा ने आतंकवाद पर पाकिस्‍तान को फिर दिया कड़ा संदेश, मोदी को बताया बेहद करीबी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

ओबामा ने आतंकवाद पर पाकिस्‍तान को फिर दिया कड़ा संदेश, मोदी को बताया बेहद करीबी

भारत-अमेरिका संबंधों को इस सदी की निर्णायक साझेदारी होने के अपने विश्वास को फिर से प्रकट करते हुए ओबामा ने कहा कि मोदी ने मजबूत साझेदारी के लिए उत्साह दिखाया है और हमने करीबी रिश्‍ता बना लिया है।

Author वॉशिंगटन | January 25, 2016 1:50 AM
संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन के दौरान पेरिस में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा। (पीटीआई फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि वह अपनी सीमा से आतंकी गतिविधियां चलाने वाले नेटवर्कों को तबाह करे। ओबामा ने कहा कि वह अपनी सरजमीं पर सक्रिय आतंकी समूहों के खिलाफ अधिक प्रभावी ढंग से कार्रवाई कर सकता है। उसे जरूर करना चाहिए। ओबामा ने एक साक्षात्कार में कहा कि पाकिस्तान के पास यह दिखाने का मौका है कि वह आतंकवादी नेटवर्कों को अवैध ठहराने, बाधित करने और तबाह करने को लेकर गंभीर है।ओबामा ने पठानकोट में वायुसेना अड्डे पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शरीफ से संपर्क साधने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। उन्होंने कहा, ‘दोनों नेता इस दिशा में बातचीत को बढ़ावा दे रहे हैं कि क्षेत्र में हिंसक चरपमंथ और आतंकवाद का मुकाबला कैसे करना है।’

पठानकोट हमले पर ओबामा ने कहा, ‘हम हमले की निंदा करने और जिंदगियों के नुकसान को रोकने के लिए लड़ने वाले जवानों को सलाम करने, पीड़ितों और उनके परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करने में भारत के साथ हैं।’ ओबामा का मानना है कि शरीफ ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान में असुरक्षा उसकी खुद की स्थिरता और इस क्षेत्र के लिए खतरा है।

दिसंबर, 2014 में पेशावर स्कूल नरसंहार के बाद उन्होंने सभी आतंकवादियों को निशाना बनाने का संकल्प लिया था। उन्होंने कहा, ‘यह सही नीति है। इसके बाद से हमने देखा है कि पाकिस्तान ने कई ऐसे समूहों के खिलाफ कार्रवाई की। हमने देखा है कि पाकिस्तान के भीतर आतंकवाद लगातार जारी है जैसे कि उत्तर पश्चिम पाकिस्तान में विश्वविद्यालय पर हाल में हमला हुआ है।’

भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों का हवाला देते हुए ओबामा ने कहा कि पिछले साल के उनके दौरे से यह बात दिखी कि दोनों देशों के बीच संबंधों में कैसे बदलाव आए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘बहरहाल, समान मूल्य-दो लोकतंत्र, दो नवोन्मेषी अर्थव्यवस्थाएं, दो विविध समाज- हमें स्वाभाविक साझेदार बनाते हैं। हमारे परिवारों के संबंध-लाखों भारतीय अमेरिकियों से जुड़े हैं।’

ओबामा ने उम्मीद जताई कि उनके दौरे से दोनों देशों के बीच सहयोग के नए युग की शुरुआत करने में मदद मिल सकती है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने आर्थिक संबंधों को बढ़ाना जारी रखा है। इससे गरीबी को कम करने और अवसर पैदा करने, द्विपक्षीय संबंधों को रिकार्ड स्तर तक ले जाने, हाईटेक सहयोग को बढ़ाने और शैक्षिक आदान-प्रदान को बढ़ावा देने में मदद मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App