ताज़ा खबर
 

भारतीय कंटेंट दिखाने पर पाकिस्‍तान ने बैन किया अमेरिकी टीवी चैनल

पाकिस्तान के मीडिया नियामक प्राधिकरण ने अमेरिकी टीवी चैनल निकेलोडियन का लाइसेंस हिन्दी में डब किए गए कार्टून दिखाने की वजह से निलंबित कर दिया है।
पाकिस्तान के मीडिया नियामक प्राधिकरण ने अमेरिकी टीवी चैनल निकेलोडियन का लाइसेंस हिन्दी में डब किए गए कार्टून दिखाने की वजह से निलंबित कर दिया है।

पाकिस्तान के मीडिया नियामक प्राधिकरण ने अमेरिकी टीवी चैनल निकेलोडियन का लाइसेंस हिन्दी में डब किए गए कार्टून दिखाने की वजह से निलंबित कर दिया है। भारत के साथ तनाव के बीच पाकिस्तान ने कुछ दिन पहले भारतीय टीवी चैनल और रेडियो सामग्री को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने का फैसला लिया था। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर निगरानी रखने वाली संस्था ने सोमवार को ऐलान किया था कि लाइसेंस को पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण (पीईएमआरए) के निर्देशों का उल्लंघन करने की वजह से निलंबित किया गया है। डॉन अखबार ने बयान की प्रति के साथ यह खबर दी है। प्राधिकरण ने 19 अक्टूबर को एलान किया था कि भारतीय सामग्री दिखाने पर सेटेलाइट चैनल प्रतिबंध का सामना करेंगे। यह ऐलान भारतीय टीवी और रेडियो सामग्री पर पूर्ण प्रतिबंध लागू करने के क्रम में किया गया था।

भोपाल जेल से भागे सिमी के संदिग्‍धों को लेकर चश्‍मदीदों का खुलासा, देखें वीडियो:

खबर में पीईएमआरए की ओर से जारी बयान के हवाले से कहा गया है कि सभी वितरण नेटवर्क को निकेलोडियन चैनल के प्रतिबंध के बारे में सूचित किया जाता है। यह फैसला तुरंत प्रभाव से अमल में लाया जाएगा। नियामक संगठन के नियमों के अनुसार स्थानीय चैनल अपने कुल कार्यक्रमों में केवल पांच प्रतिशत विदेशी कार्यक्रम प्रसारित कर सकते हैं लेकिन ऐसा देखा गया है कई चैनल अधिकतर विदेशी कार्यक्रमों, खासकर भारतीय, अमेरिकी, यूरोपीय और तुर्की के कार्यक्रमों पर निर्भर रहते हैं।

बता दें कि हाल ही में भारत में पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन को लेकर काफी चर्चा रही थी। यह सब उरी हमले के बाद शुरू हुआ था। पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन को लेकर भी बॉलावुड में बंटी हुई राय देखने को मिली थी। उरी हमले के बाद भारत में पाकिस्तानी कलाकारों को पूरी तरह बैन करने की मांग पर नाखुशी जाहिर करते हुए एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने कहा था कि यह ठीक नहीं है कि कलाकारों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.