ताज़ा खबर
 

पाक चीफ जस्टिस के बेटे को तालिवान के चंगुल से छुड़ाने में कामयाब हुई आर्मी

सिंध उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के अगवा बेटे को सेना ने आज तड़के अशांत पश्चिमोत्तर खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में मारे गए एक छापे में पाकिस्तानी तालिबान के चंगुल से छुड़ा लिया।

Author कराची | July 19, 2016 5:52 PM
बेटे अवैस शाह के साथ पाकिस्तान के जस्टिस सज्जाद अली शाह

सिंध उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के अगवा बेटे को सेना ने आज तड़के अशांत पश्चिमोत्तर खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में मारे गए एक छापे में पाकिस्तानी तालिबान के चंगुल से छुड़ा लिया। हाल के महीनों में सुलझाया जाने वाला अपहरण का यह तीसरा हाई प्रोफाइल मामला है।  पाकिस्तान सेना प्रवक्ता के मुताबिक, सिंध प्रांत के चीफ जस्टिस सज्जाद अली शाह के बेटे अवैस शाह को जंजीरों से बांधकर रखा गया था। अवैस का मुंह भी टेप से बंद किया हुआ था, तथा उसकी पहचान को छिपाने के लिए उसे बुरका पहनाया गया था।

अधिवक्ता अवैस अली शाह को पिछले महीने कराची से अगवा कर लिया गया था। वह एक टैंक में पाये गये जो अफगानिस्तान की सीमा से लगे कबायली क्षेत्र के पास था, जहां सेना की तालिबान से लड़ाई चल रही है। कार्रवाई के दौरान तीन आतंकवादी मारे गए।

इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के लेफ्टिनेंट जनरल असीम बाजवा ने ट्वीट किया कि सिंध उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश सज्जाद अली शाह के बेटे अवैस शाह को छुड़ा लिया गया है। शाह अपने परिवार से सुबह करीब साढ़े नौ बजे मिले।

बाजवा ने बताया कि अवैस अली शाह के अपहरण के पीछे तहरीक ए तालिबान से टूट कर अलग हुए एक गुट का हाथ था। गौरतलब है कि नकाबपोश लोगों ने शाह को कराची में एक सुपरबाजार के बाहर से 20 जून को अगवा कर लिया था।

बंधक के तौर पर कई साल रखे जाने के बाद दो हाई प्रोफाइल नेताओं के बेटे हाल ही में घर लौटे थे। पंजाब के दिवंगत गवर्नर सलमान तसीर के बेटे शाहबाज तसीर को पांच साल बाद मार्च में बलूचिस्तान प्रांत से छुड़ाया गया था। वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलानी के बेटे अली हैदर को तीन साल बाद अफगानिस्तान से छुड़ाया गया था।

Next Stories
1 Qandeel Baloch murder: पाकिस्तान सरकार का अच्छा कदम, अब परिवार भी हत्यारे भाई को नहीं बचा पाएगा
2 ब्रिटेन की नई पीएम ने कहा- जरूरी हुआ तो परमाणु बम गिरा कर हजारों लोगों को मौत की नींद सुला देने में हिचकूंगी नहीं
3 तीन दिनों में भूकंप से दूसरी बार हिला तोक्यो
ये पढ़ा क्या?
X