नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी और 'भारत समर्थित आतंकवाद' के बीच संबंध: पाक सेना - Jansatta
ताज़ा खबर
 

नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी और ‘भारत समर्थित आतंकवाद’ के बीच संबंध: पाक सेना

पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने दावा किया कि ‘‘भारत समर्थित आतंकवाद’’ और नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम के उल्लंघन के बीच संबंध है। पाकिस्तानी सेना ने गोलीबारी में देश के आठ नागरिकों के मारे जाने की...

Author इस्लामाबाद | August 29, 2015 9:41 AM
पाकिस्तान के सेना प्रमुख राहिल शरीफ। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने दावा किया कि ‘‘भारत समर्थित आतंकवाद’’ और नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम के उल्लंघन के बीच संबंध है। पाकिस्तानी सेना ने गोलीबारी में देश के आठ नागरिकों के मारे जाने की बात कही है। जनरल राहील शरीफ की टिप्पणी तब आई जब उन्होंने रेंजर्स मुख्यालय का दौरा किया जहां उन्हें नियंत्रण रेखा पर ताजा स्थिति के बारे में जानकारी दी गई

सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिम सलीम बाजवा ने ट्वीट किया कि पाक सेना प्रमुख ने आरोप लगाया कि भारत नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्षविराम का अंधाधुंध उल्लंघन कर रहा है और ‘‘अंतरराष्ट्रीय संधियों तथा नियमों का उल्लंघन कर पाकिस्तानी नागरिकों को आतंकित करने के लिए सभी हदें पार कर दी हैं।’’

बाजवा ने शरीफ के हवाले से कहा, ‘‘हम पाकिस्तान के विभिन्न हिस्सों में भारत द्वारा प्रायोजित आतंकवाद और नियंत्रण रेखा पर पैदा की जा रही युद्ध जैसी स्थिति के बीच संबंध को समझ सकते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय गोलीबारी में नागरिकों को निशाना बनाया जाना अत्यंत गैर पेशेवर, अनैतिक, गैर जिम्मेदाराना और कायराना हरकत है।’’

बाजवा ने दावा किया कि भारत की गोलीबारी में एक महिला सहित आठ नगारिक मारे गए और 24 महिलाओं एवं 11 बच्चों सहित 47 लोग घायल हुए हैं। सेना प्रमुख ने सियालकोट स्थित संयुक्त सैन्य अस्पताल का भी दौरा किया और घायलों से मुलाकात की।

इससे पहले शुक्रवार को पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी ने भारतीय उच्चायुक्त टीसीए राघवन को तलब किया और संघर्षविराम के कथित उल्लंघन को लेकर यह कहते हुए कड़ा विरोध दर्ज कराया कि भारतीय सैनिकों की गोलीबारी में आठ नागरिक मारे गए हैं ।

पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्षविराम के एक और उल्लंघन के तहत कल जम्मू के सीमावर्ती क्षेत्रों में भारी गोलाबारी और गोलीबारी की जिसमें तीन भारतीय नागरिक मारे गए और 17 अन्य घायल हो गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App