ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान आर्मी चीफ बोले, भारत नहीं चाहता कि चीन-पाक के बीच बने इकोनॉमिक कॉरिडोर

पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा से पहले भी इस परियोजना को लेकर विरोध जताया गया था। चीन ने भारत के विरोध को खारिज करते हुए कहा था कि यह एक इकॉनोमिक प्रोजेक्ट है।

Author इस्लामाबाद | April 13, 2016 2:40 PM
पाकिस्तान सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ

पाकिस्तान के सेना प्रमुख राहिल शरीफ ने मंगलवार को भारत पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत नहीं चाहता कि चीन के 46 अरब अमेरिकी डॉलर के निवेश से इकॉनोमिक कॉरिडोर बनाया जाए। यह कॉरिडोर चीन के पश्चिमी क्षेत्र से सामान पाकिस्तान के ग्वादेर पोर्ट तक पहुंचाने के लिए बनाया जा रहा है। एक कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए शरीफ ने कहा कि मैं बताना चाहता हूं कि हमारे पड़ोसी देश भारत ने खुलेआम इस परियोजना को विरोध किया था।

Read Also: मोदी की सउदी अरब यात्रा बिगाड़ सकती है पाकिस्तान का मूड: अमेरिकी विशेषज्ञ

पिछले साल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा से पहले भी इस परियोजना को लेकर विरोध जताया गया था। भारत का विरोध पीओके(पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) से गुजरने वाले इस कॉरिडोर के निर्माण और निवेश पर था। चीन ने भारत के विरोध को खारिज कर दिया और कहा कि यह एक इकॉनोमिक प्रोजेक्ट है।

Read Also: अमेरिका ने अपने नागरिकों को पाकिस्तान नहीं जाने के लिए चेताया, दिया आतंकी हिंसा का हवाला

हालही में विस्तार किया गया ग्वादेर पोर्ट लगभग पूरा होने वाला है। इस पोर्ट के जरिए पश्चिमी चीन में बनने वाले प्रोडेक्शन को सड़क के रास्ते पाकिस्तान के ग्वादेर पोर्ट पर पहुंचाया जाएगा और फिर यहां से विदेशी मार्केट में यह सामान भेजा जाएगा।

ग्वादेर पोर्ट बलूचिस्तान प्रांत में आता है, जहां अलगाववादी कई दशकों से पाकिस्तान सरकार का विरोध करते आ रहे हैं। ऐसे में पाकिस्तान सुरक्षा बलों ने इस प्रोजेक्ट की सुरक्षा का पूरा वादा किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App