ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी वायु सेना ने हाईवे पर लड़ाकू विमान उतार परखी ताकत, अब नौसेना भी अलर्ट

पाक अधिकारियों के मुताबिक, भारतीय सैनिकों की तैनाती अनाक्रमक स्थिति में नियंत्रण रेखा से अमूमन 800 से 1000 किलोमीटर की दूरी पर होती है लेकिन फिलहाल भारतीय सेना नियंत्रण रेखा से करीब 200 से 250 किलोमीटर की दूरी पर चहलकदमी कर रही है।

पाकिस्तानी वायु सेना ने रोड पर उतारा लड़ाकू विमान, नौसेना भी अलर्ट

कश्मीर में पिछले 2 महीने से चल रहे विरोध-प्रदर्शन और हाल ही में हुए उरी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों में खटास बढ़ गई है। दोनों देशों के बीच युद्ध जैसी स्थितियां पैदा होने का शक मंडरा रहा है। हालांकि, दोनों ही देशों की सरकारें किसी तरह की युद्ध की आशंका से इनकार कर रही है लेकिन गुरुवार की रात इस्लामाबाद के आसमान में जिस तरह F-16 जैसे लड़ाकू विमान दिखाई दिए, उससे एक बार फिर ये शंका मजबूत हो रही है कि क्या पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ युद्ध की तैयारी कर ली है। इस लड़ाकू विमान ने गुरुवार को रनवे छोड़ इस्लामाबाद और लाहौर के बीच हाईवे पर लैंडिंग की। पाकिस्तानी वायु सेना के प्रवक्ता कमांडर जावेद मोहम्मद अली इसे रुटीन एक्सरसाइज बता रहे हैं जो कई सालों से होता आ रहा है। हालांकि, पाक सेना के एक दूसरे अधिकारी इस बात को मानते हैं कि उरी हमला के बाद से पाकिस्तानी सेना अलर्ट पर है। उनके मुताबिक पाकिस्तानी सेना किसी भी तरह के आक्रमण से निपटने के लिए तैयार है।

माना जा रहा है कि उरी हमले के बाद भारतीय सैनिकों की तैनाती एलओसी के पास बढ़ा दी गई है। इससे पाकिस्तान में बेचैनी है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने बोफोर्स और अन्य हल्के हथियारों को नियंत्रण रेखा के पास ले जाना शुरू कर दिया है। उधर, पाकिस्तान में रनवे की जगह हाईवे पर लड़ाकू विमान उतारने को भले ही एक युद्धाभ्यास माना जा रहा हो लेकिन पाकिस्तान के उत्तरी हिस्से में व्यावसायिक उड़ानों को रद्द करना लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर रहा है कि स्थितियां सामान्य नहीं हैं।

पाकिस्तानी वायु सेना और नौ सेना दोनों ही हाई अलर्ट पर हैं। सूत्रों के मुताबिक पाक वायु सेना जहां साल 2016 के युद्ध अभ्यासों के चरम पर है, वहीं पाक नौ सेना भी हाई अलर्ट पर है। पाक नेवी प्रवक्ता के मुताबिक पाक नौसेना के उप प्रमुख खान हाशिम बिन सिद्दिकी ने पिछले दिनों कई तटीय इलाकों का मुआयना किया है। इनमें तुरबत, मकरान, जिवानी और ओरमारा शामिल है। माना जा रहा है कि नेवी उप प्रमुख ने उन इलाकों में युद्ध की स्थिति से निपटने के सुरक्षा इंतजामों का जायजा लिया है। उधर, भारत में भी मुंबई के तटीय इलाकों में नेवी हाई अलर्ट पर है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तानी सेना में इस बात पर जोरदार चर्चा हुई है कि अगर भारतीय सेना ने कार्रवाई की तो उससे निपटने के लिए हम कितने तैयार हैं।

पाक अधिकारियों के मुताबिक, भारतीय सैनिकों की तैनाती अनाक्रमक स्थिति में नियंत्रण रेखा से अमूमन 800 से 1000 किलोमीटर की दूरी पर होती है लेकिन फिलहाल भारतीय सेना नियंत्रण रेखा से करीब 200 से 250 किलोमीटर की दूरी पर चहलकदमी कर रही है। पाक रक्षा विशेषज्ञ के मुताबिक, भारत युद्ध के समय जहां सैनिकों की तैनाती करता है, वहां अभी ही सैनिकों की तैनाती कर चुका है। हालांकि, पाक सेना के एक अधिकारी ने दावा किया है कि भारतीय सेना हमेशा मूव करती रही हैं और हाल के दिनों में कोई खास हलचल नहीं देखी गई है।

Read Also-VIDEO: 15 साल की लड़की पर पुलिस का अत्याचार, आंखों में मिर्च स्प्रे कर लगा दी हथकड़ी

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App