पाकिस्‍तान: ईशनिंदा का आरोप लगा तो 15 साल के लड़के ने हाथ काटकर धर्मगुरु को प्‍लेट में किया पेश

लाहौर से 125 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हजरा शाह मकीम जिले के एक गांव में चार दिन पहले एक धार्मिक सभा में हुई यह घटना।

Mohammad Anwar, Pakistani boy, blasphemy pakistan, Pakistan teen, chops hand, blasphemy chops hand, cuts off hand, blasphemy mistake, पाकिस्‍तानी किशोर, मोहम्‍मद अनवर, हाथ काटा, ईशनिंदा, पाकिस्‍तान, latest news in hindi, world news, pakistan news, hindi newsस्‍थानीय पुलिस अफसर नौशेर अहमद ने बताया कि उन्‍होंने वह वीडियो देखा है, जिसमें मोहम्‍मद अनवर का लोग इस्‍तकबाल कर रहे हैं और उसके माता-पिता अपने बेटे के काम पर फख्र महसूस कर रहे हैं।

पाकिस्‍तान से एक हैरान करने वाली खबर आई है। ‘द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून’ की रिपोर्ट के मुताबिक, 15 साल के मोहम्‍मद अनवर ने सिर्फ इसलिए अपना हाथ काट के एक धर्मगुरु को भेंट कर दिया, क्‍योंकि उससे अनजाने में ईशनिंदा हो गई थी। आप यह जानकर अचरज में पड़ जाएंगे कि 15 साल के उस मासूम लड़के से ऐसी क्‍या गलती हुई थी कि उसे खुद ही अपना हाथ काटना पड़ा?

जानकारी के मुताबिक, लाहौर से 125 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हजरा शाह मकीम जिले के एक गांव में चार दिन पहले एक धार्मिक सभा हो रही थी। इसी दौरान धर्मगुरु ने सभा में उपस्थित लोगों से कहा, ‘जो लोग पैगंबर मोहम्‍मद को प्‍यार करते हैं, वे हमेशा उससे इबादत करते हैं।’ इतना कहने के बाद धर्मगुरु ने पूछा, ‘यहां उपस्थित लोगों में कौन ऐसा है, जिसने इबादत करना बंद कर दिया है।’ धर्मगुरु का सवाल 15 साल का मासूम ठीक से सुन नहीं सका और उसने अपना हाथ ऊपर उठा दिया।

मोहम्‍मद अनवर ने जैसे ही अपना हाथ ऊपर उठाया, वैसे ही सभा में उपस्थित लोग उस पर ईशनिंदा का आरोप लगाने लगे। बस फिर क्‍या था, लड़का अपने घर गया और उसी हाथ को काट दिया, जो उसने सवाल के जवाब में ऊपर उठाया था। मोहम्‍मद अनवर ने हाथ काटने के बाद उसे प्‍लेट में रखा और धर्मगुरु को पेश कर दिया। स्‍थानीय पुलिस अफसर नौशेर अहमद ने बताया कि उन्‍होंने वह वीडियो देखा है, जिसमें मोहम्‍मद अनवर का लोग इस्‍तकबाल कर रहे हैं और उसके माता-पिता अपने बेटे के काम पर फख्र महसूस कर रहे हैं।

Read Also: पाकिस्‍तान में ईशनिंदा कानून: सैकड़ों बने शिकार, पर इसे खत्‍म करना सुप्रीम कोर्ट के बूते की भी बात नहीं

Next Stories
1 भारत को पड़ोसी के रूप में नहीं देखना चाहते चीनी नागरिक, पाकिस्‍तान को मानते हैं बेहतर
2 भारत-पाक के विदेश सचिवों की बातचीत इसी महीने
3 मुसलमानों को अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगाने के अपने रुख पर कायम: डोनाल्ड ट्रंप
X