ताज़ा खबर
 

नेपाल में फायरिंग से भारतीय की मौत, भारत ने नेपाली राजदूत को किया तलब

भारत-नेपाल की सीमा के नजदीक नए संविधान के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर नेपाली पुलिस द्वारा की गई गोलीबारी में 19 वर्षीय भारतीय की मौत हो गई। घटना से चिंतित भारत....

(फोटो-एपी/पीटीआई)

भारत-नेपाल सीमा में सोमवार को पुलिस फायरिंग में एक भारतीय की मौत के बाद माहौल तनावपूर्ण है। भारत ने नेपाल के राजदूत दीप कुमार उपाध्याय को तलब कर गोलीबारी की घटना पर चिंता जताई और मामले की जांच करने को कहा है। इस बीच देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने नेपाली समकक्ष केपी ओली से बात की और मामले की जांच करने को कहा।

गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, बीरगंज सीमा शुल्क चौकी के नजदीक शंकराचार्य गेट पर प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की गोलीबारी में बिहार के रक्सौल का रहने वाला आशीष राम मारा गया। इस बीच भारत ने अपने मालवाहक ट्रांसपोर्टरों से कहा है कि वे खुद को खतरे में नहीं डालें। इस मशविरे के जारी होने के बाद नेपाल में आपूर्ति का संकट गहरा सकता है। सरकार ने कहा कि वह स्थिति की निगरानी सावधानी पूर्वक कर रही है।

सोमवार को मधेशी प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की फायरिंग के दौरान आशीष राम के सिर में गोलियां लगीं और अस्पताल ले जाने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने कहा कि राम के मोबाइल फोन से उसके मामा को फोन किया गया जिसके बाद उसकी पहचान हुई। नेपाल की पुलिस के मधेशी प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज के बाद बीरंगज के विभिन्न हिस्सों में सोमवार को संघर्ष छिड़ गया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के टेंट जला दिए, भारत-नेपाल सीमा के पास मैत्री पुल से उन्हें हटा दिया और पिछले 40 दिनों में पहली बार बीरगंज-रक्सौल सीमा व्यापार स्थल को खोला।

इलाके में हिंसा के बाद अधिकारियों ने अनिश्चिकालीन कर्फ्यू लगा दिया। पुलिस द्वारा इलाके पर थोड़े समय के लिए नियंत्रण करने के दौरान सीमा के पास नेपाल की तरफ खड़े करीब 200 खाली ट्रक भारतीय सीमा में घुसे। पुलिस ने कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए रबर की कई गोलियां चलाईं जिसमें कई प्रदर्शनकारी जख्मी हो गए।

प्रदर्शनकारियों के पथराव में नेपाल पुलिस और हथियारबंद पुलिस बल के आठ जवान भी जख्मी हो गए। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता लक्ष्मी प्रसाद धाकल ने कहा कि पुलिस ने बीरगंज-रक्सौल व्यापार स्थल को खोलने के लिए सुबह करीब साढ़े चार बजे धावा बोला और पांच प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया। इस व्यापार स्थल से करीब 70 फीसद द्विपक्षीय व्यापार होता है।

नेपाल में हाल के हिंसक आंदोलन में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और भारत से इस हिमालयी देश को सामान और ईंधन की आपूर्ति में बाधा आने के कारण भारत-नेपाल संबंधों में भी तनाव आया है। बहरहाल चीन से पेट्रोल लेकर 12 ट्रक नेपाल में रासुवागाधी व्यापार स्थल से आए। नेपाल आॅयल कारपोरेशन और पेट्रो चाइना के बीच कुछ दिन पहले बीजिंग में हुए समझौते के बाद इन टैंकरों से नेपाल में एक लाख 44 हजार लीटर पेट्रोल और डीजल आया है।

चीन में नेपाल के राजदूत महेश मासके ने एक टीवी चैनल से कहा कि चीन नेपाल की एक तिहाई जरूरत को पूरा करने के लिए पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति पर सहमत हुआ है। उन्होंने कहा कि समझौते के तहत चीन पेट्रोल, डीजल, एलपीजी और गैसोलीन की आपूर्ति करेगा। चीन ने त्योहारी मौसम में एक हजार मीट्रिक टन ईंधन आपूर्ति की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि नेपाल आॅयल कारपोरेशन और पेट्रो चाइना के अधिकारी नेपाल को आपूर्ति किए जाने वाले पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य तय करने पर चर्चा करेंगे।

भारत ने बीरगंज में गोलीबारी की घटना पर गहरी चिंता जताई है जिसमें नेपाल सीमा पर एक भारतीय नागरिक की मौत हो गई। इसने अपने मालवाहक ट्रांसपोर्टरों से कहा है कि खुद को खतरे में नहीं डालें। इस मशविरे के जारी होने के बाद नेपाल में आपूर्ति का संकट गहरा सकता है। सरकार ने कहा कि वह स्थिति की निगरानी सावधानी पूर्वक कर रही है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि बीरगंज में गोलीबारी की घटना से हम काफी चिंतित हैं। गोलीबारी में एक निर्दोष भारतीय भी मारा गया। नेपाल में राजनीतिक संकट है और इसका समाधान बलपूर्वक नहीं हो सकता। नेपाल की सरकार को वर्तमान संघर्ष के कारणों से ठोस और प्रभावी तरीके से निपटने की जरूरत है। भारतीय मालवाहकों और ट्रांसपोर्टरों ने सीमा के पार खराब होती स्थिति पर फिर चिंता जाहिर की है।

उन्होंने कहा कि हम उन्हें सलाह दे रहे हैं कि सावधानी बरतें और खुद को खतरे में नहीं डालें। हम सावधानीपूर्वक स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। नेपाल में सितंबर में संविधान लागू होने के बाद से भारतीय मूल की मधेशी आबादी आंदोलन कर रही है क्योंकि उनका मानना है कि देश का नया संविधान उनके प्रति भेदभाव करने वाला है और दूसरे नेपाली नागरिकों की तरह उन्हें बराबरी का अधिकार नहीं देता।

थम नहीं रही हिंसा

नेपाल में हाल के हिंसक आंदोलन में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और भारत से इस हिमालयी देश को सामान और ईंधन की आपूर्ति में बाधा आने के कारण भारत-नेपाल संबंधों में भी तनाव आया है। बहरहाल चीन से पेट्रोल लेकर 12 ट्रक नेपाल में रासुवागाधी व्यापार स्थल से आए। नेपाल आॅयल कारपोरेशन और पेट्रो चाइना के बीच कुछ दिन पहले बेजिंग में हुए समझौते के बाद इन टैंकरों से नेपाल में एक लाख 44 हजार लीटर पेट्रोल और डीजल आया है।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App